प्रसव के बाद सेक्स (Delivery ke baad sex)

प्रसव के बाद सेक्स (Delivery ke baad sex)
नयी नयी मां बनने के बाद महिलाओं की जिम्मेदारियां बढ़ने के साथ ही उनकी चिंताएं भी बढ़ती हैं। डिलीवरी के बाद अक्सर महिलाएं शिशु की देखभाल और घर की जिम्मेदारियों में उलझी रह जाती हैं, जिसकी वजह वह अपने सेक्स लाइफ पर ध्यान नहीं दे पाती हैं। प्रसव के बाद महिलाओं को यह चिंता होती है कि क्या वें फिर से अपनी पुरानी सेक्स लाइफ को जी सकेंगी या नहीं। ऐसे में यह जानना ज़रूरी है कि आखिर प्रसव के बाद सेक्स करने का सही समय और तरीका क्या है। हम आपको इस ब्लॉग में प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) से जुड़ी सभी जानकारी देे रहे हैं। 1.प्रसव के बाद सेक्स कब करना चाहिए? (Delivery ke baad sex kab karna chahiye) 2.क्या प्रसव के बाद सेक्स करने में दर्द होता है? (Kya delivery ke baad sex karne me dard hota hai) 3.प्रसव के बाद सेक्स किस अवस्था में कर सकते हैं?(Delivery ke baad sex kis avastha me kar sakte hai) 4.क्या प्रसव के बाद सेक्स करने से थकान होती है? (Kya delivery ke baad sex karne se thakan hoti hai) 5.क्या प्रसव के बाद सेक्स करते समय गर्भनिरोधक दवाईयां खानी चाहिए? (Kya delivery ke baad sex karte samay kya garbhanirodhak goliyan khani chahiye) 6.डिलीवरी के बाद सेक्स करने से जुड़ी सावधानियां (Delivery ke baad sex karne se judi savadhaniya) 7.प्रसव के बाद सेक्स संबंधी समस्याओं को लेकर डॉक्टर से बात कब करनी चाहिए? (Delivery ke baad sex sambandhi samasyaon ko lekar doctor se kab baat karni chahiye) 1. प्रसव के बाद सेक्स कब करना चाहिए? (Delivery ke baad sex kab karna chahiye) आमतौर पर प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) को लेकर पति और पत्नी के मन में पहला सवाल यही होता है कि उन्हें कितने समय के बाद सेक्स करना चाहिए। दरअसल, मां बनने के बाद महिलाओं को पूरी तरह से ठीक होने में काफी समय लगता है, ऐसे में उन्हें सेक्स करने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। डॉक्टर, प्रसव के बाद छह हफ्तों तक सेक्स करने के लिए मना करते हैं, लेकिन कई महिलाएं रिलेशन बनाने के लिए कुछ हफ्ते में ही शारीरिक रूप से स्वस्थ हो जाती हैं, तो वहीं कुछ महिलाओं को तैयार होने में साल भर से भी ज्यादा का समय लग सकता है। प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) कब करना चाहिए, इसकी कोई निश्चित अवधि नहीं है, क्योंकि डिलीवरी के बाद अधिकांश महिलाएं अवसाद ग्रसित हो जाती है, जिसकी वजह से उनमें सेक्स की इच्छा कम हो सकती है। प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) करने से पहले महिलाओं को डॉक्टर की सलाह ज़रूर लेनी चाहिए, ताकि डिलीवरी के बाद उन्हें रिलेशन बनाने में किसी भी तरह की कोई दिक्कत न हो। 2.क्या प्रसव के बाद सेक्स करने में दर्द होता है? (Kya delivery ke baad sex karne me dard hota hai) प्रसव के बाद महिलाओं के शरीर में हार्मोनल बदलाव होते हैं, जोकि योनि को शुष्क बनाते हैं, इसलिए सेक्स करने में उन्हें काफी परेशानी होती है। प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) के दर्द से बचने के लिए पति और पत्नी को सही समय का इंतजार करना चाहिए। जब तक महिला पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाती है, तब तक दोनों शारीरिक स्पर्श (चुंबन वगैरह) करके अपने रिश्ते को मजबूत बना सकते हैं, लेकिन ज़बरदस्ती सेक्स न करें। प्रसव के बाद सेक्स (रिलेशन बनाना) के दर्द से राहत पाने के लिए महिलाओं को गर्म पानी से नहाना चाहिए, इससे योनि को ठीक होने में भी मदद मिलती है। 3.प्रसव के बाद सेक्स किस अवस्था में कर सकते हैं? (Delivery ke baad sex kis avastha me kar sakte hai) प्रसव के बाद अगर महिला पूरी तरह से स्वस्थ हो चुकी है, तो भी उसे इस दौरान कुछ चुनिंदा अवस्थाओं में ही सेक्स करना चाहिए। दरअसल, अपनी पुरानी सेक्स लाइफ में लौटने के लिए पति और पत्नी को थोड़ा इंतजार करना चाहिए, इसलिए प्रसव के बाद एक साल तक कुछ विशेष अवस्थाओं में ही सेक्स करना चाहिए।
  • करवट वाली अवस्था - प्रसव के बाद सेक्स के लिए करवट वाली अवस्था अपनानी चाहिए, इससे महिला पर ज्यादा दबाव नहीं पड़ता है, जोकि उनके स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है।
  • महिला का ऊपर होना - प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) करते समय अगर महिला पुरूष के ऊपर आ जाए, तो उसे सेक्स के दौरान कम दर्द होता है।
  • लेटने वाली अवस्था - इस अवस्था में महिला पेट को ऊपर करके पीठ के बल लेटती है और उसके घुटने ऊपर की तरफ होते हैं और तलवे ज़मीन से जुड़े होते हैं।
4. क्या प्रसव के बाद सेक्स करने से थकान होती है? (Kya delivery ke baad sex karne se thakan hoti hai) प्रसव के बाद महिलाओं में शारीरिक और मानसिक थकान होना स्वाभाविक है, इसलिए इस दौरान महिलाएं सेक्स के बाद बहुत ज्यादा थक जाती हैं। हालांकि, सेक्स के बाद थकना बड़ी समस्या नहीं है और न ही इसका यह मतलब है कि आप में संबंध की इच्छा की कमी है, यह वक्त के साथ ठीक हो जाता है। 5.क्या प्रसव के बाद सेक्स करते समय गर्भनिरोधक दवाईयां खानी चाहिए? (Kya delivery ke baad sex karte samay kya garbhanirodhak goliyan khani chahiye) प्रसव के बाद अगर महिला स्तनपान करा रही है, तो उन्हें प्रोजेस्ट्रान-ओनली कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स (progestogen-only contraceptive pills in hindi) लेनी चाहिए, इससे मां के दूध पर कोई असर नहीं पड़ता है। दरअसल, गर्भनिरोधक दवाईयां इसलिए ली जाती है, ताकि महिला इस समय दोबारा गर्भवती न हो। प्रसव के बाद कई महीनों तक पीरियड (मासिक धर्म) अनियमित रहता है, जिसकी वजह से इसके सही चक्र के बारे में जान पाना बेहद मुश्किल होता है, इसलिए दूसरी बार गर्भवती होने से बचने के लिए डॉक्टर की सलाह से गर्भनिरोधक दवाईयां खानी चाहिए। 6.डिलीवरी के बाद सेक्स करने से जुड़ी सावधानियां (Delivery ke baad sex karne se judi savadhaniya) प्रसव के बाद महिलाओं का शरीर पहले जैसा नहीं रहता है, जिसकी वजह से वह रिलेशन बनाने मेंं हिचकिचाती हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि वो पहले की तरह आकर्षित नहीं रही हैं। प्रसव के बाद सेक्स करना पहले की तरह आसान नहीं होता है, इसलिए आपको सेक्स के दौरान इन बातों का ध्यान रखना चाहिए -
  • अगर आपको प्रसव के बाद सेक्स (रिलेशन बनाना) करने में कोई परेशानी आ रही है, तो इस बारे में अपने पति से बात करेंं और उन्हें कुछ दिन रूकने को कहे। इससे वो आपकी बात समझेंगे और आपका रिश्ता पहले से भी ज्यादा मजबूत हो जाएगा।
  • प्रसव के बाद पहली बार तेज़ी से सेक्स नहीं करना चाहिए।
  • प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) के दौरान अगर महिला असहज महसूस करें तो पति को रूकने के लिए बोल दें।
  • प्रसव के बाद सेक्स करने से पहले पूरे शरीर की मालिश करनी चाहिए, इससे हार्मोन्स संतुलित हो जाते हैं, जिससे महिला को काफी आराम मिलता है।
  • प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) से पहले योनि के रूखेपन को दूर करने के लिए चिकनाई (कैनोला ऑयल) का सहारा लेना चाहिए, इससे महिला को ज्यादा दर्द नहीं होगा।
  • अगर महिला को योनि से ब्लीडिंग हो रही है, तो शारीरिक संबंध बनाने से बचना चाहिए, क्योंकि इससे संक्रमण का खतरा हो सकता है।
7.प्रसव के बाद सेक्स संबंधी समस्याओं को लेकर डॉक्टर से बात कब करनी चाहिए? (Delivery ke baad sex sambandhi samasyaon ko lekar doctor se kab baat karni chahiye) अगर महिला को प्रसव के बाद धीरे धीरे सेक्स करने पर भी ज्यादा दर्द हो रहा है, तो उसे डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। ऐसा हो सकता है कि महिला को योनि और गुदा के बीच लगे टांकों में परेशानी हो रही हो, जिसको ऑपरेशन के ज़रिए ठीक करवाना पड़ सकता है। प्रसव के बाद अगर आपकी योनि से बदबू आ रही है तो यह किसी संक्रमण का संकेत हो सकता है। इन सबके अलावा अगर आपको प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या महसूस हो रही है, तो डॉक्टर से ज़रूर संपर्क करें। प्रसव के बाद सेक्स (delivery ke baad sex) करने के लिए पति को अपनी पत्नी के हां कहने का इंतजार करना चाहिए, इससे दोनों के बीच का रिश्ता और भी मजबूत होता है। दरअसल, प्रसव के बाद महिलाएं काफी ज्यादा चिढ़चिढ़ी हो जाती हैं, इसलिए उनके पति को इस दौरान उनका साथ देना चाहिए। प्रसव के बाद (delivery ke baad sex) सेक्स करने को लेकर अगर पति पत्नी के मन में कोई दुविधा हो तो उन्हें डॉक्टर से बिना किसी संकोच के संपर्क करना चाहिए।
इस ब्लॉग के विषय - 1.प्रसव के बाद सेक्स कब करना चाहिए? (Delivery ke baad sex kab karna chahiye), 2.क्या प्रसव के बाद सेक्स करने में दर्द होता है? (Kya delivery ke baad sex karne me dard hota hai), 3.प्रसव के बाद सेक्स किस अवस्था में कर सकते हैं? (Delivery ke baad sex kis avastha me kar sakte hai), 4.क्या प्रसव के बाद सेक्स करने से थकान होती है? (Kya delivery ke baad sex karne me thakan hoti hai), 5.क्या प्रसव के बाद सेक्स करते समय गर्भनिरोधक दवाईयां खानी चाहिए? (Kya delivery ke baad sex karte samay kya garbhanirodhak goliyan khani chahiye), 6.डिलीवरी के बाद सेक्स करने से जुड़ी सावधानियां (Delivery ke baad sex karne se judi savadhaniya), 7.प्रसव के बाद सेक्स संबंधी समस्याओं को लेकर डॉक्टर से बात कब करनी चाहिए? (Delivery ke baad sex sambandhi samasyaon ko lekar doctor se kab baat karni chahiye)
नए ब्लॉग पढ़ें