प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi)

प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi)

जहां एक तरफ घर में नन्हे मेहमान के आने की खुशियां होती हैं तो वहीं दूसरी तरफ महिलाओं को कई तरह की शारीरिक समस्याओं से गुजरना पड़ता है। डिलीवरी के बाद महिलाओं को होने वाली तमाम परेशानियों में से कब्ज होना भी एक आम समस्या है। महिलाएं डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने से काफी परेशान हो जाती हैं।

इस ब्लॉग में हम प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से जुड़ी सारी जानकारी दे रहे हैं, जिसकी मदद से महिलाएं इस समस्या से निजात पा सकती हैं।

1. क्या प्रसवोत्तर कब्ज सामान्य है?

(Kya delivery ke baad kabj normal hai)

डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होना सामान्य है, लेकिन कुछ मामलों में यह कई गंभीर बीमारियों की तरफ इशारा करती है, जैसे- बवासीर और शुगर आदि। प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को घबराना नहीं चाहिए, क्योंकि यह कुछ दिनों बाद अपने आप ठीक हो जाती है।

2. डिलीवरी के बाद कब्ज क्यों होती है?

(Delivery ke baad kabz kyun hoti hai)

Pregnancy ke baad kabj

डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख कारणों की चर्चा नीचे की गई है-

  • हार्मोनल बदलाव- डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में हार्मोन्स के असंतुलित स्तर की वजह से कब्ज हो सकती है।

  • दवाएं लेना- प्रसव और सिजेरियन डिलीवरी (cesarean delivery in hindi) के दर्द को दूर करने के लिए ली जाने वाली दवाईयों की वजह से महिलाओं को कब्ज हो सकती है।

  • प्रीनेटल विटामिन लेना (prenatal vitamin in hindi)- प्रसव के पहले प्रीनेटल विटामिन (prenatal vitamin in hindi) लेने की वजह से महिलाओं को डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) की समस्या से जूझना पड़ सकता है।

  • सिजेरियन डिलीवरी (cesarean delivery in hindi)- जिन महिलाओं की डिलीवरी ऑपरेशन से होती है, उनकी पाचन प्रक्रिया तीन से चार दिन तक धीमी हो जाती है और इससे उन्हें कब्ज हो सकती है।

  • पानी की कमी होना- प्रसव के बाद शरीर में पानी की कमी से महिलाओं को कब्ज का सामना करना पड़ सकता है।

  • आयरन ज्यादा लेना- डिलीवरी के बाद महिलाएं तेज़ी से ठीक होने के लिए आयरन की अधिक मात्रा लेने लगती हैं, जिसकी वजह से उन्हें कब्ज हो सकती है।

  • शारीरिक रूप से सक्रिय न होना- कई बार डिलीवरी के बाद डॉक्टर महिलाओं को आराम करने की सलाह देते हैं, जिसकी वजह से वे शारीरिक रूप से सक्रिय नहीं रह पाती हैं। इसलिए उन्हें कब्ज होने की संभावना बढ़ जाती है।

3. प्रसवोत्तर कब्ज होने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए?

(Delivery ke baad kabj hone par doctor ke paas kab jana chahiye)

Pregnancy ke baad kabj

यूं तो डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत कुछ ही दिनों में मिल जाती है, लेकिन अगर महिलाओं को नीचे लिखे गए लक्षण महसूस हो तो उन्हें डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए-

  • पेट में दर्द होना
  • दस्त होना
  • मल से खून आना
  • मल त्यागते समय दर्द होना

4. प्रसव के बाद कब्ज कम करने के लिए क्या खाना चाहिए?

(Delivery ke baad kabz kam karne ke liye kya khana chahiye)

Pregnancy ke baad kabj

डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए, इसके लिए उन्हें नीचे लिखी गई चीज़ों को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए-

  • दही खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को दही खाना चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद कैल्शियम और ज़िंक पाचन तंत्र को सुचारू रखते हैं।

  • पालक खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को पालक खाना चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद फाइबर पेट को साफ रखने में मदद करते हैं।

  • संतरा खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को संतरा खाना चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद विटामिन सी कब्ज को दूर करने में मददगार हैं।

  • टमाटर खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को टमाटर खाना चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद विटामिन सी पेट को साफ रखते हैं।

  • शकरकंद खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को अपनी डाइट में शकरकंद शामिल करना चाहिए।

  • आम खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को आम खाना चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद गुण इस समस्या को दूर करने में कारगर हैं।

  • गाजर खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को गाजर खानी चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद गुण इस समस्या से राहत दिला सकते हैं।

  • गोभी खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को अपनी डाइट में फूल गोभी शामिल करनी चाहिए।

  • खूब पानी पीएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत पाने के लिए महिलाओं को एक दिन में 10 से 12 गिलास पानी पीना चाहिए।

  • नींबू पानी पीएं- प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत पाने के लिए महिलाओं को रोज़ाना सुबह एक कप गर्म पानी में नींबू निचोड़ कर पीना चाहिए।

  • पालक का जूस पीएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत पाने के लिए महिलाओं को सुबह एक कप पालक का जूस पीना चाहिए। इसमें मौजूद फाइबर कब्ज की समस्या को दूर करने में सहायक है।

  • सूखे मेवे खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत पाने के लिए महिलाओं को सूखे मेवे (बादाम और काजू आदि) खाने चाहिए। इसमें पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम और फाइबर आदि कब्ज को दूर करने में सहायक हैं।

  • मुनक्के खाएं- प्रसवोत्तर कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत पाने के लिए महिलाओं को मुनक्के खाने चाहिए, क्योंकि यह मल त्यागने की प्रक्रिया को सरल बनाते हैं।

  • दूध में घी मिलाकर पीएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत पाने के लिए महिलाएं रात को दूध में एक चम्मच घी मिलाकर पी सकती हैं। इसमें मौजूद कैल्शियम कब्ज को दूर करने में सहायक हैं।

  • गुनगुने पानी में शहद मिलाकर पीएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत पाने के लिए महिलाएं एक कप गुनगुने पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर पीएं। इस प्रक्रिया को दिन में तीन से चार बार दोहराएं।

  • किशमिश को पानी में भिगोकर खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत पाने के लिए महिलाएं आधे कप पानी में 5 या 7 किशमिश तीन घंटे के लिए भिगोकर रख दें और इसके बाद इन्हें खा लें।

उपरोक्त चीज़ों के अलावा महिलाएं डॉक्टर की सलाह से कई अन्य ज़रूरी चीज़ें अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं।

5. प्रसव के बाद कब्ज दूर करने के टिप्स क्या है?

(Delivery ke baad kabj dur karne ke tips kya hai)

Pregnancy ke baad kabj

प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) दूर करने के लिए महिलाओं को नीचे लिखे गए सुझाव अपनाने चाहिए-

  • स्तनपान कराएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से राहत पाने के लिए महिलाएं अपने शिशु को स्तनपान कराएं। ऐसा करने से कब्ज काफी हद तक दूर हो जाती है।

  • फास्ट फूड न खाएं- प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) की शिकायत होने पर महिलाओं को फास्ट फूड (जैसे- बर्गर, पिज्जा और चाऊमीन) से परहेज करना चाहिए।

  • चॉकलेट न खाएं- प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को चॉकलेट से परहेज करना चाहिए।

  • रेड मीट न खाएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाओं को रेड मीट नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद आयरन इस समस्या को बढ़ाता है।

  • तैलीय पदार्थ न खाएं- प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) की शिकायत होने पर महिलाओं को तैलीय पदार्थों से परहेज करना चाहिए।

6. डिलीवरी के बाद कब्ज से कैसे बचें?

(Delivery ke baad kabj se kaise bache)

Pregnancy ke baad kabj

डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से बचने के लिए महिलाओं को नीचे लिखी गई सावधानियां अपनानी चाहिए-

  • व्यायाम करें- प्रेगनेंसी के समय से ही महिलाओं को रोज़ाना व्यायाम करना चाहिए।

  • थोड़ा थोड़ा खाएं- प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से बचने के लिए महिलाओं को एक बार में भरपेट खाने के बजाय बार बार थोड़ा थोड़ा खाना चाहिए।

  • खाने के तुरंत बाद न सोएं- प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से बचने के लिए महिलाओं को खाना खाने के तुरंत बाद नहीं सोना चाहिए।

  • कैफीन युक्त पदार्थ न लें- प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से बचने के लिए महिलाओं को कैफीन युक्त पदार्थ नहीं लेने चाहिए।

  • तनाव न लें- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से बचने के लिए महिलाओं को तनाव नहीं लेना चाहिए।

  • भरपूर मात्रा में पानी पीएं- डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) से बचने के लिए महिलाओं को रोज़ाना 10 से 12 गिलास पानी पीना चाहिए।

डिलीवरी के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) होने पर महिलाएं ऊपर लिखे गए घरेलू उपायों को आज़मा सकती हैं। इसके अलावा अगर महिलाओं को कब्ज के गंभीर लक्षण महसूस हो रहे हैं तो उन्हें फौरन डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। प्रसव के बाद कब्ज (postpartum constipation in hindi) बवासीर का कारण बन सकती है, इसलिए महिलाओं को लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए।

इस ब्लॉग के विषय- 1. क्या प्रसवोत्तर कब्ज सामान्य है? (Kya delivery ke baad kabj normal hai)2. डिलीवरी के बाद कब्ज क्यों होती है? (Delivery ke baad kabz kyun hoti hai)3. प्रसवोत्तर कब्ज होने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए? (Delivery ke baad kabj hone par doctor ke paas kab jana chahiye)4. प्रसव के बाद कब्ज कम करने के लिए क्या खाना चाहिए? (Delivery ke baad kabz kam karne ke liye kya khana chahiye)5. प्रसव के बाद कब्ज होने पर क्या नहीं खाना चाहिए? (Delivery ke baad kabj hone par kya nahi khana chahiye)6. डिलीवरी के बाद कब्ज से कैसे बचें? (Delivery ke baad kabj se kaise bache)
नए ब्लॉग पढ़ें