नवजात शिशु को उल्टी होने के घरेलू उपचार (Navjat shishu ko vomiting hone ke gharelu upchar)

नवजात शिशु को उल्टी होने के घरेलू उपचार (Navjat shishu ko vomiting hone ke gharelu upchar)

नवजात शिशु को उल्टी होना एक बेहद आम बात है। कई बार वो ज़रूरत से ज्यादा दूध पी लेता है, उसका पाचन तंत्र इतना दूध झेल नहीं पाता है और उसे उल्टी हो जाती है। इसके अलावा ज्यादा रोने, कब्ज़, संक्रमण आदि वजहों से भी नवजात शिशु को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) हो सकती है। लेकिन, अगर वह हर बार स्तनपान करने के बाद उल्टी करता है, तो डॉक्टर की सलाह लें, क्योंकि आपके शिशु को माँ के दूध से समस्या हो सकती है।

इस ब्लॉग में हम आपको नवजात शिशु को उल्टी से राहत देने के घरेलू नुस्खे बता रहे हैं।

ध्यान दें- अगर आपका बच्चा छह माह से कम आयु का है, तो उस पर ऐसा कोई घरेलू नुस्खा ना आज़माएँ, जिसमें उसे कुछ खिलाने-पिलाने की सलाह दी गई हो। किसी भी प्रकार की समस्या के समाधान के लिए उसे डॉक्टर के पास लेकर जाएं।

ब्लॉग में बताए गए घरेलू नुस्खों से नवजात शिशु को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) से राहत मिल सकती है। मगर, इन घरेलू नुस्खों का उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह लेना सबसे बेहतर होगा।

शिशु की उल्टी के उपचार के 14 घरेलू नुस्खे

(Baby ki ulti ke upchar ke 14 gharelu nuskhe)

नवजात शिशु को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) से राहत दिलाने के 14 घरेलू नुस्खे निम्नलिखित हैं-

1. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को स्तनपान करवाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko stanpan karaye)

Ulti ka ilaj- stanpan शिशु के लिए माँ के दूध से बढ़कर कोई दवा नहीं हो सकती है। माँ का दूध एंटीबायोटिक व एंटीइंफेक्टिव गुणों से भरपूर होता है और बच्चे को कई बीमारियों से सुरक्षित रखता है।

आमतौर पर नवजात शिशु को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) होने पर किसी विशेष उपचार की ज़रूरत नहीं होती है, उसके लिए माँ का दूध एक प्रभावी दवा के तौर पर काम करता है। इसलिए उल्टी होने पर शिशु को भरपूर मात्रा में स्तनपान करवाएं।

2. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को ओ.आर.एस. का घोल पिलाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Shishu ko O.R.S. ka ghol pilaye)

Ulti ka ilaj- ORS नवजात शिशु को उल्टी होने की वजह से, उसके शरीर में पानी व ज़रूरी पोषक तत्वों की कमी हो सकती है। ऐसा होना उसकी सेहत के लिए ठीक नहीं होता है, इसलिए उल्टी होने पर शिशु को ओ.आर.एस. का घोल पिलाएं। यह उसके शरीर में पानी व अन्य ज़रूरी पोषक तत्वों (जैसे सोडियम, पोटैशियम आदि) की पूर्ति करता है।

अस्पतालों व दवाई की दुकानों पर पैकेट बंद ओ.आर.एस. मिलता है, जिसे पानी में घोल कर बच्चे को पिलाया जा सकता है। इसके अलावा आप घर पर भी ओ.आर.एस. का घोल तैयार कर सकते हैं।

तरीका- एक लीटर साफ पानी को अच्छी तरह उबाल लें, ताकि उसमें किसी प्रकार के बैक्टीरिया जीवित ना रहें। फिर इसे ठंडा होने दें। इसके बाद इसमें छह चम्मच चीनी और आधी चम्मच नमक डालकर तब तक मिलाएं, जब तक कि ये पानी में पूरी तरह से घुल ना जाएं। अब नियमित अंतराल पर बच्चे को दो से तीन चम्मच घोल पिलाएं।

इस दौरान यह ध्यान रखें, कि उसे सीमित मात्रा में ही घोल पिलाया जाए, वरना वह दूध पीना कम कर सकता है। इसे दो महीने से अधिक आयु के शिशुओं को पिलाया जा सकता है।

3. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को चावल का पानी पिलाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko chaval ka pani pilaye)

Ulti ka ilaj- chaval ka pani

चावल का पानी कई ज़रूरी पोषक तत्वों जैसे प्रोटीन, विटामिन, कैल्शियम और स्टार्च से भरपूर होता है और उल्टी होने पर शिशु को कमज़ोरी से बचाता है। इसलिए उल्टी होने पर उसे चावल का पानी पिलाना फायदेमंद होता है।

तरीका- दो चम्मच चावलों को साफ पानी से धो लें और डेढ़ कप पानी में डालकर अच्छी तरह से उबालें। जब चावल ढंग से पक जाएं, तो उन्हें एक चम्मच से हल्का-हल्का मसल दें। इसके बाद इस मिश्रण को एक छलनी के ज़रिए एक कप या कटोरी में छान कर ठंडा कर लें।

बच्चे को दिन में एक या दो बार चावल का पानी पिलाएं। इसे छह महीने से अधिक उम्र के बच्चों को पिलाया जा सकता है।

4. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को सौंफ का पानी पिलाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko saunf ka pani pilaye)

Ulti ka ilaj- saunfpani

सौंफ में कई पाचन संबंधी समस्याओं जैसे गैस, अपच आदि को ठीक करने का गुण होता है। इसलिए सौंफ का पानी बच्चे की उल्टी कम करने में मददगार होता है।

तरीका- एक कप खौलते पानी में एक चम्मच सौंफ डालें। इसे करीब दस मिनट तक ऐसे ही रहने दें। फिर छलनी की सहायता से एक कप में छान लें।

जब भी बच्चे को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) हो, तो उसे दो से तीन चम्मच सौंफ का पानी पिलाएं। यह नुस्खा छह महीने व उससे बड़े बच्चों के लिए सुरक्षित होता है।

5. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को जीरे का पानी पिलाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko jire ka pani pilaye)

Ulti ka ilaj- jeere ka pani

बच्चे के नाज़ुक पाचनतंत्र के लिए जीरा बहुत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद थाइमोल नामक पदार्थ पैनक्रियाज को पाचक एंजाइम (भोजन के पाचन में सहायक पदार्थ) बनाने के लिए प्रेरित करता है। यह भोजन के पाचन में सहायता करके नवजात शिशु को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) से राहत दिलाता है।

तरीका- एक गिलास साफ पानी में आधी चम्मच जीरा डालकर चार से पांच मिनट तक उबालें। इसके बाद बचे हुए पानी को छलनी की सहायता से एक कप में छान लें।

नवजात शिशु को उल्टी से राहत दिलाने के लिए दिन में दो से तीन बार यह पानी पिलाएं। छह महीने और उससे बड़े बच्चों के लिए यह नुस्खा सुरक्षित है।

6. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को पुदीने का रस पिलाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Shishu ko pudine ka juice pilaye)

Ulti ka ilaj- pudine ka juice

पुदीना एक शक्तिशाली आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है। इसमें पाचनतंत्र सम्बंधी समस्याएं दूर करने का विशेष गुण पाया जाता है। इसलिए यह नवजात शिशु को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) से राहत दिलाने में मददगार साबित हो सकता है।

तरीका- ताज़े पुदीने की दस-बारह पत्तियों को साफ पानी से अच्छी तरह से धो लें। इसके बाद इन्हें आधे कप पानी के साथ पीस लें। अब एक छलनी की मदद से पुदीने के रस को एक कप में छान लें। फिर इसमें एक चौथाई चम्मच नींबू का का रस मिलाएं।

जब भी बच्चे को उल्टी हो, उसे इसमें से दो से तीन चम्मच जूस पिलाएं। यह दस महीने व उससे अधिक उम्र के बच्चों के लिए सुरक्षित माना जाता है।

7. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को अनार व नींबू का जूस दें

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko anar aur nimbu ka juice pilaye)

Ulti ka ilaj- anar aur nimbu ka juice

विभिन्न प्रकार के विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर अनार हम सभी के लिए फायदेमंद होता है। इसके साथ ही नींबू पाचनतंत्र को स्वस्थ रखने में सहायक होता है। अगर आपके बच्चे को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) हो रही है, तो अनार व एक चौथाई का जूस ठीक होने में उसकी मदद कर सकता है। यह पचने में आसान होता है और बच्चे को आंतों की ऐंठन से भी राहत दिलाता है।

तरीका- एक अनार को छीलकर एक कटोरी में उसके दाने निकाल लें। अब इन दानों को मिक्सर में डालकर अच्छी तरह से पीस लें और इन्हें एक छलनी की सहायता से छानकर एक कप में इनका जूस निकाल लें। अब इस जूस में एक चौथाई चम्मच नींबू का जूस मिलाएं।

नवजात शिशु को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) होने पर दिन में नियमित अंतराल पर (दो से तीन बार) यह जूस पिलाएं। अगर आपके शिशु की उम्र सात महीने या उससे ज्यादा है, तो उसे यह जूस पिलाना सुरक्षित है।

8. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को प्याज का जूस पिलाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko pyaj ka juice pilaye)

Ulti ka ilaj- pyaj ka juice

प्याज एंटीबायोटिक गुणों से भरपूर होती है और यह नवजात शिशु की उल्टी कम करने में भी मददगार होती है।

तरीका- एक साफ सुथरी प्याज को कद्दूकस करें। अब छलनी की सहायता से एक कप में इसका जूस निकाल लें। बच्चे को उल्टी से राहत दिलाने के लिए एक चम्मच प्याज के जूस में चार चम्मच पानी मिलाकर पिलाएं।

ऐसा दिन में दो से तीन बार करें। यह नुस्खा 10 महीने और इससे बड़े बच्चों के लिए सुरक्षित है।

9. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को अदरक का पानी पिलाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Shishu ko adrak ka pani pilaye)

Ulti ka ilaj- adrak ka pani

अदरक एक शक्तिशाली मसाला व आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है, इसमें पाचनतंत्र को स्वस्थ बनाए रखने का गुण होता है। यह शिशु की उल्टी (navjat shishu ko vomiting) कम करने में सहायक होता है।

तरीका- एक चुटकी अदरक कूटकर आधा कप गुनगुने पानी में डालें। करीब 10 मिनट बाद इस पानी को छलनी की मदद से एक कप में छान लें। बच्चे को उल्टी होने के बाद एक से दो चम्मच अदरक का पानी पिलाएं।

इसकी तासीर बेहद गर्म होती है, इसलिए बच्चे को ज्यादा मात्रा में अदरक का पानी ना पिलाएं। दस महीने व उससे बड़े बच्चों को खाने में सिमित मात्रा में डालकर अदरक खिलाया जा सकता है।

10. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को अदरक की चाय पिलाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko adrak ki chai pilaye)

अदरक की सादा चाय भी शिशु को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) से राहत देने में मददगार साबित हो सकती है।

तरीका- साफ अदरक का एक छोटा टुकड़ा कूटकर एक कप पानी में डालकर उबालें। जब पानी आधा रह जाए, तो इसे छलनी की मदद से एक कप में छान लें।

अगर शिशु को उल्टी हो रही है, तो उसे दिन में दो से तीन बार तीन से चार चम्मच अदरक की चाय पिलाएं। अदरक की यह चाय दस महीने व इससे ज्यादा उम्र के शिशुओं के लिए सुरक्षित होती है।

11. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू उपाय: शिशु को लौंग की चाय पिलाएं

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko laung ki chay pilaye)

Ulti ka ilaj- laung ki chai

लौंग एक बेहद तेज़ मसाला है। इसमें एंटीबायोटिक गुण व एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। यह शिशु के पाचनतंत्र को स्वस्थ रखने में सहायक होती है, इसलिए बच्चे को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) होने पर लौंग की चाय से राहत मिल सकती है।

तरीका- एक कप पानी में एक लौंग डालकर उबालें। जब पानी आधा रह जाए, तो इसे छलनी से एक कप में छान लें।

दिन में दो बार दो से तीन चम्मच लौंग की चाय पिलाने से शिशु को उल्टी से राहत मिल सकती है। यह नुस्खा ग्यारह महीने और इससे बड़े बच्चों पर आजमाया जा सकता है। इसकी तासीर बेहद गर्म होती है, इसलिए बच्चे को ज्यादा मात्रा में लौंग की चाय ना पिलाएं।

12. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू उपाय: शिशु को इलायची दें

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Shishu ko ilaychi de)

Ulti ka ilaj- elaichi

इलायची में पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम और विटामिन सी की प्रचुर मात्रा होती है। यह बच्चे के पाचनतंत्र को स्वस्थ रखती है और उसे उल्टी से राहत दिलाने में भी सहायक होती है।

तरीका- एक इलायची को बारीक पीस लें। शिशु को खिचड़ी या सूप में एक चुटकी पिसी इलायची मिलाकर दें।

बच्चे को दिन में दो से तीन बार इलायची-युक्त हल्का भोजन खिलाने से उल्टी से राहत मिल सकती है। आठ महीने और इससे बड़े शिशुओं को इलायची खिला सकते हैं।

13. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू उपाय: बच्चे को 24 घण्टे तक ठोस भोजन ना दें

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko 24 ghante tak solid food na de)

बार बार उल्टी होने की वजह से शिशु का पाचनतंत्र बहुत कमजोर हो जाता है। ऐसे में अगर बच्चा ठोस भोजन खाने लगा है, तो उसे अगले एक दिन तक ठोस खाना ना खिलाएं, क्योंकि इससे उसे और भी ज्यादा उल्टी हो सकती है।

ठोस खाने के बजाय, शिशु को पतला दलिया व खिचड़ी जैसा तरल भोजन खिलाएं। यह आसानी पच सकता है, जिससे बच्चे को उल्टी से राहत मिल सकती है।

14. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू उपाय: शिशु को थोड़ा थोड़ा भोजन दें

(Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko thoda thoda khana de)

Ulti ka ilaj- thoda thoda khana

कुछ माता-पिता अपने बच्चे की उल्टियाँ रुकते ही, उसे भरपेट खाना खिलाने की कोशिश करने लगते हैं। ऐसा करना सही नहीं है, क्योंकि इससे उसे दोबारा उल्टी आ सकती है। लगातार उल्टी होने की वजह से बच्चे की पाचन क्षमता कम हो जाती है, इसलिए उसे एक बार में भरपेट खाना खिलाने के बजाय, नियमित अंतराल पर थोड़ा थोड़ा खिलाएं।

नवजात शिशु को उल्टी (navjat shishu ko vomiting) होने पर घबराएं नहीं और ब्लॉग में बताए गए घरेलू नुस्खे आज़माएँ। एक बार में एक घरेलू नुस्खा ही आज़माएँ, एक साथ सभी घरेलू नुस्खे आजमाना शिशु की सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।

अगर इन घरेलू नुस्खों से शिशु की सेहत में सुधार नहीं आ रहा है या वह बहुत ज्यादा उल्टी कर रहा है, तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएं।

इस ब्लॉग के विषय- शिशु की उल्टी के उपचार के 14 घरेलू नुस्खे (Baby ki ulti ke upchar ke 14 gharelu nuskhe)1. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को स्तनपान करवाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko stanpan karaye)2. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को ओ.आर.एस. का घोल पिलाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Shishu ko O.R.S. ka ghol pilaye)3. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को चावल का पानी पिलाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko chaval ka pani pilaye)4. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को सौंफ का पानी पिलाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko saunf ka pani pilaye)5. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को जीरे का पानी पिलाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko jire ka pani pilaye)6. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को पुदीने का रस पिलाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Shishu ko pudine ka juice pilaye)7. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को अनार व नींबू का जूस दें (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko anar aur nimbu ka juice pilaye)8. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को प्याज का जूस पिलाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko pyaj ka juice pilaye)9. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: शिशु को अदरक का पानी पिलाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Shishu ko adrak ka pani pilaye)10. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू नुस्खे: बच्चे को अदरक की चाय पिलाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko adrak ka pani pilaye)11. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू उपाय: शिशु को लौंग की चाय पिलाएं (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko laung ki chay pilaye)12. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू उपाय: शिशु को इलायची दें (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Shishu ko ilaychi de)13. बच्चे की उल्टी ठीक करने के घरेलू उपाय: बच्चे को 24 घण्टे तक ठोस भोजन ना दें (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Bache ko 24 ghante tak solid food na de)14. शिशु की उल्टी ठीक करने के घरेलू उपाय: शिशु को थोड़ा थोड़ा भोजन दें (Bachon ki ulti ka ilaj in hindi: Baby ko thoda thoda khana de)
नए ब्लॉग पढ़ें