डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल (Pregnancy ke baad skin ki dekhbhal)

डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल (Pregnancy ke baad skin ki dekhbhal)

जहां एक तरफ प्रेगनेंसी में महिलाओं को कई तरह की शारीरिक और मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है, वहीं दूसरी तरफ डिलीवरी के बाद भी उनकी दिक्कतें कम नहीं होती हैं। डिलीवरी के बाद महिलाओं को होने वाली त्वचा संबंधी समस्याएं भी इन परेशानियों में से एक है। उचित देखरेख के ज़रिए इनसे छुटकारा पाया जा सकता है या कम किया जा सकता है।

हम आपको इस ब्लॉग में डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल (delivery ke baad skin ki dekhbhal) से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं, इसके साथ ही त्वचा संबंधी समस्याओं व उनके उपचार के बारे में भी बता रहे हैं।

1. डिलीवरी के बाद त्वचा संबंधी समस्याएं क्यों होती हैं?

(Delivery ke baad skin problems kyun hoti hai)

Skincare after delivery

डिलीवरी के बाद त्वचा संबंधी समस्याओं के पीछे कई कारण हो सकते हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख कारणों के बारे में नीचे बताया गया है-

  • हार्मोनल बदलाव होना- डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में हार्मोनल बदलाव होने की वजह से उन्हें कई तरह की स्किन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

  • तनाव होना- डिलीवरी के बाद अधिकांश महिलाएं तनाव ग्रसित हो जाती हैं, जिसका असर उनकी त्वचा पर पड़ता है और उन्हेें स्किन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

  • नींद पूरी न होना- डिलीवरी के बाद महिलाएं शिशु की देखभाल करने में व्यस्त हो जाती हैं, जिसकी वजह से उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती है। इससे उन्हें त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

  • थकान होना- डिलीवरी के बाद महिलाएं शारीरिक और मानसिक रूप से थक जाती हैं, जिसकी वजह से उन्हें स्किन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

2. प्रेगनेंसी के बाद महिलाओं में त्वचा से जुड़ी समस्याओं के कारण और इनसे बचाव के घरेलू उपाय

(Pregnancy ke baad mahilao me skin problems ke karan aur inse bachav ke gharelu upay)

आमतौर पर डिलीवरी के बाद महिलाओं को कई तरह की त्वचा संबधी समस्याओं से जूझना पड़ता है। इनमें से प्रमुख समस्याओं के कारण और बचाव के उपाय निम्नलिखित हैं-

डिलीवरी के बाद स्ट्रेच मार्क्स: कारण, बचाव के घरेलू उपाय

(delivery ke baad stretch marks: karan, bachav ke gharelu upay)-

Skincare after delivery

स्ट्रेच मार्क्स गर्भावस्था का एक हिस्सा हैं। डिलीवरी के बाद लगभग हर महिला को स्ट्रेच मार्क्स हो जाते हैं। ये उनके पेट, जांघ, स्तन आदि जगहों पर हो सकते हैं। कई बार ये कुछ महीनों में ठीक हो जाते हैं, लेकिन कुछ मामलों में ये सालों तक बरकरार रहते हैं।

प्रेगनेंसी के समय महिलाओं का पेट बढ़ता है और उनकी डिलीवरी के बाद यह फिर से कम हो जाता है, जिसकी वजह से खिंचाव के निशान की समस्या पैदा हो सकती है।

इसके अलावा आनुवांशिक कारणों से भी उन्हें डिलीवरी के बाद स्ट्रेच मार्क्स हो सकते हैं। मान लीजिए, अगर आपकी मां को गर्भावस्था के बाद स्ट्रेच मार्क्स की समस्या थी, तो आपको भी यह समस्या हो सकती है।

रोकथाम- महिलाओं को स्ट्रेच मार्क्स की समस्या से बचने के लिए विटामिन ई के तेल से शरीर की मालिश करनी चाहिए। इसके साथ ही नहाने के बाद पेट पर डॉक्टर द्वारा बताई गई क्रीम या लोशन लगाकर भी आप स्ट्रेच मार्क्स से बच सकती हैं।

ध्यान रहे कि स्ट्रेच मार्क्स तभी जाते हैं जब वो लाल रंग के हों, सफेद रंग के होने पर नहीं ये जाते हैं।

प्रेगनेंसी के बाद स्किन पर धब्बे: कारण, बचाव के घरेलू उपाय

(pregnancy ke baad skin par dhabbe: karan, bachav ke gharelu upay)-

Skincare after delivery

कुछ महिलाएं डिलीवरी के बाद अधिक तनाव लेती हैं, जिसकी वजह से उनकी त्वचा पर धब्बे पड़ सकते हैं। कई बार तेज़ धूप की वजह से भी स्किन पर धब्बे हो सकते हैं। इसके अलावा ये धब्बे उनके शरीर में हार्मोनल असंतुलन की वजह से भी हो सकते हैं।

वैसे ये धब्बे शरीर के किसी भी अंग पर पड़ सकते हैं, लेकिन ये चेहरे पर ज्यादा पड़ते हैं। ये लाल और काले रंग के होते हैं, कुछ उपायों को आज़मा कर इनसे छुटकारा पाया जा सकता है।

रोकथाम- गर्भावस्था के बाद त्वचा के धब्बों से बचने के लिए तनाव न लें और स्वस्थ दिनचर्या अपनाएं। इसके साथ ही 10 मिनट से ज्यादा सूरज की तेज़ रौशनी में ऩ रहें। अगर किसी कारण महिलाओं को धूप में रहना पड़े तो उन्हें अपने चेहरे को दुपट्टे से ढकना चाहिए। सनस्क्रीन का इस्तेमाल करके भी धब्बों से बचा जा सकता है।

डिलीवरी के बाद मेलास्मा: कारण, बचाव के घरेलू उपाय

(delivery ke baad melasma: karan, bachav ke gharelu upay)-

Skincare after delivery

कई महिलाओं की त्वचा पर गहरे काले या भूरे रंग के चकत्ते पड़ जाते हैं, जिन्हें क्लोस्मा या मेलास्मा (closma or melasma in hindi) कहते हैं। इस समस्या में निप्पल, जांघ, नाभी और गले आदि जगहों का रंग पहले से गहरा हो जाता है।

प्रेगनेंसी में हार्मोनों का स्तर असंतुलित होने की वजह से मेलास्मा हो सकता है, जोकि डिलीवरी के कुछ महीनों के बाद तक बने रह सकता है। इसके अलावा सूरज की तेज़ रौशनी से भी यह समस्या हो सकती है। कुछ उपायों और सावधानियों को आज़मा कर इससे छुटकारा पाया जा सकता है।

रोकथाम- डिलीवरी के बाद महिलाओं को जब भी घर से बाहर जाना हो तो उन्हें चेहरे पर सनस्क्रीन लगानी चाहिए। त्वचा पर किसी भी प्रकार की क्रीम या लोशन लगाने से पहले एक बार डॉक्टर से ज़रूर सलाह लें। इसके अलावा अपने खानपान का विशेष ध्यान रखें और नियमित दिनचर्या अपनाएं, यह आपके शरीर में हार्मोनों का स्तर संतुलित रखने में मददगार होता है।

प्रेगनेंसी के बाद डार्क सर्कल और आंखों में सूजन: कारण, बचाव के घरेलू उपाय

(pregnancy ke baad dark circle aur aankho me sujan: karan, bachav ke gharelu upay)-

Skincare after delivery

गर्भावस्था के बाद थकान और हार्मोनल बदलावों की वजह से महिलाओं को डार्क सर्कल और आंखों में सूजन की समस्या हो सकती है। इसके अलावा पर्याप्त मात्रा में नींद न लेने की वजह से भी उनकी आंखों के नीचे काले घेरे या आखों में सूजन हो सकती है। कुछ उपायों को आजमा कर इस समस्या से राहत पाई जा सकती है।

रोकथाम- प्रेगनेंसी के बाद डार्क सर्कल और आंखों में सूजन को कम करने के लिए महिलाओं को पर्याप्त मात्रा में सोना चाहिए। इसके लिए अलावा उन्हें डॉक्टर की सलाह से रात को सोने से पहले कोई अच्छी क्रीम आंखों के नीचे लगानी चाहिए।

डिलीवरी के बाद कील मुहांसे: कारण, बचाव के घरेलू उपाय

(delivery ke baad kil muhase: karan, bachav ke gharelu upay)-

Skincare after delivery

डिलीवरी के बाद हार्मोन संबंधी असंतुलन की वजह महिलाओं में कील मुंहासे होना बेहद आम है। ज्यादातर मामलों में यह ठोड़ी के आसपास होते हैं, लेकिन कई बार यह पूरे चेहरे पर फैल सकते हैं।

यूं तो डिलीवरी के कुछ महीनों बाद कील मुंहासे अपने आप ही खत्म हो जाते हैं, लेकिन कई बार ये लंबे समय तक बरकरार रह सकते हैं।

रोकथाम- प्रसव के बाद कील मुंहासों से बचने के लिए महिलाओं को अपने चेहरे को दिन में तीन से चार बार धोना चाहिए। इससे त्वचा में मौजूद अतिरिक्त तेल धीरे धीरे बाहर आने लगता है, और कील मुंहासे कम होने सकते हैं।

प्रेगनेंसी के बाद खुजली: कारण, बचाव के घरेलू उपाय

(pregnancy ke baad khujli: karan, bachav ke gharelu upay)-

Skincare after delivery

डिलीवरी के बाद महिलाओं में पानी की कमी होने पर उनकी त्वचा रूखी हो सकती है। इससे उन्हें खुजली से परेशान हो सकती है।

रोकथाम- प्रसव के बाद खुजली से बचने के लिए महिलाओं को पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। इसके अलावा उन्हें आयरन और कैल्शियम से भरपूर पदार्थ लेने चाहिए। साथ ही त्वचा में नमी बनाए रखने के लिए डॉक्टर की सलाह लेकर अच्छे बॉडी लोशन का इस्तेमाल करना चाहिए।

3. डिलीवरी के बाद त्वचा संबंधी समस्याएं दूर करने के घरेलू उपाय क्या हैं?

(Delivery ke baad skin problems dur karne ke gharelu upay kya hai)

Skincare after delivery

गर्भावस्था के बाद त्वचा संबंधी समस्याओं से राहत पाने के लिए महिलाएं नीचे बताए गए घरेलू उपायों को आज़मा सकती हैं-

  • एलोवेरा जैल लगाएं- एलोवेरा जैल मेलास्मा, डार्क सर्कल और त्वचा के धब्बों से छुटकारा दिलाने में सहायक है। एलोवेरा जैल को 10 से 15 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्र पर लगाकर छोड़ दें। इसके बाद त्वचा को गुनगुने पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को रोज़ाना दो से तीन बार दोहराएं।

  • दूध, ककड़ी और टमाटर का पेस्ट लगाएं- दूध, ककड़ी और टमामटर का पेस्ट मेलास्मा, डार्क सर्कल और त्वचा के धब्बों से छुटकारा दिलाने में मददगार है। आधी कटोरी दूध में एक ककड़ी और टमाटर को पीस कर 10 से 15 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्र पर लगाकर छोड़ दें। फिर इसे ठंडे पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को दिन में एक बार दोहराएं।

  • बादाम और शहद का पेस्ट लगाएं- बादाम और शहद का पेस्ट त्वचा संबंधी समस्याओं से राहत दिलाने में सहायक है। एक चम्मच शहद में एक बादाम पीसकर, पेस्ट बनाकर 10 से 15 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्र पर लगाकर छोड़ दें। फिर इसे गुनगुने पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को दिन में तीन से चार बार दोहराएं।

  • आलू का रस लगाएं- आलू का रस मेलास्मा, डार्क सर्कल, त्वचा के धब्बों और मुंहासों से छुटकारा दिलाने में सहायक है। एक आलू को पीसकर निचोड़ें और उसका रस एक छोटी कटोरी में निकाल लें। इस रस को 10 से 15 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्र पर लगाकर छोड़ दें। फिर इसे हल्के गर्म पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहराएं।

  • शहद और संतरे का पेस्ट लगाएं- शहद और संतरे का पेस्ट त्वचा के धब्बों, कील और मुंहासे से राहत दिलाने में सहायक है। एक चम्मच शहद में थोड़ा सा संतरे का जूस मिलाकर, पेस्ट बनाकर 5 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्र पर लगाकर छोड़ दें। फिर इसे गुनगुने पानी से धो लें। इसे दिन में सिर्फ एक बार लगाएं।

  • दूध और हल्दी का पेस्ट लगाएं- दूध और हल्दी का पेस्ट कील, मुंहासे और त्वचा के धब्बों से छुटकारा दिलाने में सहायक है। दो चम्मच दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर 10-15 मिनट तक प्रभावित क्षेत्र पर लगाकर छोड़ दें। फिर इसे गुनगुने पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को दिन में तीन से चार बार दोहराएं।

  • नींबू का रस लगाएं- नींबू में मौजूद प्राकृतिक ब्लीच के गुण स्ट्रेच मार्क्स कम करने में कारगर होते हैं। इसके लिए नींबू के रस को प्रभावित क्षेत्र पर दिन में दो से चार बार 10 से 15 मिनट के लिए लगाएं। फिर इसे गुनगुने पानी से धो लें।

  • अंडा लगाएं- डिलीवरी के बाद अंडे के सफेद हिस्से को प्रभावित क्षेत्र पर लगाने से स्ट्रेच मार्क्स से छुटकारा पाया जा सकता है। दो अंडे के सफेद भाग को 10 से 15 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्र पर लगाकर छोड़ दें। फिर इसे ठंडे पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को दिन में एक बार करें।

  • पुदीने की पत्तियां लगाएं- पुदीने की पत्तियां स्किन संबंधी समस्याओं से राहत दिलाने में सहायक हैं। पुदीने की कुछ पत्तियां पानी के साथ पीस कर 10 से 15 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्र पर लगाकर छोड़ दें। फिर इसे गुनगुने पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को दिन में एक बार ज़रूर करें।

4. प्रेगनेंसी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स क्या हैं?

(Pregnancy ke baad skin ki dekhbhal ke tips kya hai)

Skincare after delivery

गर्भावस्था के बाद त्वचा की देखभाल करने के लिए महिलाएं नीचे लिखी गई टिप्स आज़मा सकती हैं-

  • डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: खूब पानी पीएं (delivery ke baad skin ki dekhbhal ke tips: khub pani piye)- प्रसव के बाद महिलाओं को दिन में 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिए। इससे उनकी त्वचा में नमी बरकरार रहती है और हार्मोन का स्तर संतुलित रहने में मदद मिलती है।

  • प्रेगनेंसी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: तेज़ धूप में न रहें (pregnancy ke baad skin ki dekhbhal ke tips: tez dhup me na rahe)- डिलीवरी के बाद महिलाओं को ज्यादा देर तक तेज़ धूप में नहीं रहना चाहिए, क्योंकि इससे उन्हें त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

  • डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: फल और सब्जियां खाएं (delivery ke baad skin ki dekhbhal ke tips: fal aur sabjiya khaye)- गर्भावस्था के बाद महिलाओं को अपनी डाइट में फल और सब्जियां शामिल करनी चाहिए। इनमें मौजूद पोषक तत्व स्किन को स्वस्थ रखने में मददगार होते हैं।

  • प्रेगनेंसी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: क्रीम या तेल लगाएं (pregnancy ke baad skin ki dekhbhal ke tips: cream ya tel lagaye)- डिलीवरी के बाद महिलाओं को रोज़ाना अपनी त्वचा पर डॉक्टर द्वारा बताई गई क्रीम या तेल लगाना चाहिए। इससे उनकी त्वचा में नमी की मात्रा नियमित रहने में मदद मिलती है।

  • डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: अच्छी नींद लें (delivery ke baad skin ki dekhbhal ke tips: achchi neend le)- गर्भावस्था के बाद त्वचा की देखभाल करने के लिए महिलाओं को पर्याप्त मात्रा में नींद लेनी चाहिए। अच्छी नींद से उनके चेहरे पर चमक बरकरार रहती है और तमाम समस्याएं दूर हो सकती हैं।

  • प्रेगनेंसी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: हल्का व्यायाम करें (pregnancy ke baad skin ki dekhbhal ke tips: halka vyayam kare)- डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल करने के लिए महिलाओं को हल्का व्यायाम करना चाहिए। इससे उनकी त्वचा स्वस्थ रहेगी। ध्यान रहे कि डॉक्टर की सलाह से ही व्यायाम करें।

  • डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: त्वचा को साफ सुथरा रखें (delivery ke baad skin ki dekhbhal ke tips: skin ko saf suthra rakhe)- प्रसव के बाद महिलाओं को त्वचा की साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इससे उनकी त्वचा कीटाणुओं से मुक्त होती है और उन्हें त्वचा से जुड़ी समस्याओं से राहत मिल सकती है ।

डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल (delivery ke baad skin ki dekhbhal) करने के लिए महिलाएं ऊपर बताए गए सुझावों को आज़मा सकती हैं। अगर उन्हें त्वचा संबंधी कोई भी समस्या हो तो वे इस ब्लॉग में बताए गए घरेलू उपायों को आज़मा कर इससे छुटकारा पा सकती हैं।

अगर ब्लॉग में बताए गए घरेलू उपायों से किसी महिला की त्वचा संबंधी समस्याएं कम नहीं होती हैं, या उसे ये समस्याएं ज्यादा परेशान कर रही हैं, तो उसे डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

इस ब्लॉग के विषय- 1. डिलीवरी के बाद त्वचा संबंधी समस्याएं क्यों होती हैं? (Delivery ke baad skin problems kyun hoti hai)2. प्रेगनेंसी के बाद महिलाओं में त्वचा से जुड़ी समस्याओं के कारण और इनसे बचाव के घरेलू उपाय (Pregnancy ke baad mahilao me skin problems ke karan aur inse bachav ke gharelu upay)डिलीवरी के बाद स्ट्रेच मार्क्स: कारण, बचाव के घरेलू उपाय (delivery ke baad stretch marks: karan, bachav ke gharelu upay)प्रेगनेंसी के बाद स्किन पर धब्बे: कारण, बचाव के घरेलू उपाय (pregnancy ke baad skin par dhabbe: karan, bachav ke gharelu upay)डिलीवरी के बाद मेलास्मा: कारण, बचाव के घरेलू उपाय (delivery ke baad melasma: karan, bachav ke gharelu upay)प्रेगनेंसी के बाद डार्क सर्कल और आंखों में सूजन: कारण, बचाव के घरेलू उपाय (pregnancy ke baad dark circle aur aankho me sujan: karan, bachav ke gharelu upay)डिलीवरी के बाद कील मुहांसे: कारण, बचाव के घरेलू उपाय (delivery ke baad kil muhase: karan, bachav ke gharelu upay )प्रेगनेंसी के बाद खुजली: कारण, बचाव के घरेलू उपाय (pregnancy ke baad khujli: karan, bachav ke gharelu upay)3. डिलीवरी के बाद त्वचा संबंधी समस्याएं दूर करने के घरेलू उपाय क्या हैं? (Delivery ke baad skin problems dur karne ke gharelu upay kya hai)4. प्रेगनेंसी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स क्या हैं? (Pregnancy ke baad skin ki dekhbhal ke tips kya hai)डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: खूब पानी पीएं (delivery ke baad skin ki dekhbhal ke tips: khub pani piye)प्रेगनेंसी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: तेज़ धूप में न रहें (pregnancy ke baad skin ki dekhbhal ke tips: tez dhup me na rahe)डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: फल और सब्जियां खाएं (delivery ke baad skin ki dekhbhal ke tips: fal aur sabjiya khaye)प्रेगनेंसी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: क्रीम या तेल लगाएं (pregnancy ke baad skin ki dekhbhal ke tips: cream ya tel lagaye)डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: अच्छी नींद लें (delivery ke baad skin ki dekhbhal ke tips: achchi neend le)प्रेगनेंसी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: हल्का व्यायाम करें (pregnancy ke baad skin ki dekhbhal ke tips: halka vyayam kare)डिलीवरी के बाद त्वचा की देखभाल के टिप्स: त्वचा को साफ सुथरा रखें (delivery ke baad skin ki dekhbhal ke tips: skin ko saf suthra rakhe)
नए ब्लॉग पढ़ें