गर्भ में लड़की होने के लक्षण : मिथक और सच्चाई (Signs of having a baby girl: Myths & Truth)

गर्भ में लड़की होने के लक्षण : मिथक और सच्चाई (Signs of having a baby girl: Myths & Truth)

गर्भ में संतान का होना दुनिया का सबसे रोमांचक एहसास होता है, इसका अनुभव एक माँ के सिवाय और कोई नहीं कर सकता है। अक्सर लोग गर्भवती के गर्भ में पल रहे शिशु के लिंग के बारे में सोचते हैं, कि गर्भ में लड़का है या लडकी। आज भी हमारे समाज में गर्भ में पल रहे शिशु का लिंग पता करने से जुड़े कई मिथकों पर विश्वास किया जाता है। इस ब्लॉग में हम आपको गर्भ में लड़की होने के लक्षण के बारे में प्रचलित कुछ मिथक और उनकी सच्चाई बता रहे हैं।

ध्यान दें - यह ब्लॉग केवल आपको मिथकों की जानकारी देने और उनकी सच्चाई बताने के लिए लिखा गया है। इसमें हम किसी भी तरह से पाठक को लड़का - लड़की में भेदभाव करने के लिए प्रोत्साहित नहीं कर रहे हैं। हम ऐसी सोच की कड़ी निंदा करते हैं, क्योंकि लड़का और लड़की एक समान हैं। जागरूक रहें और समाज से इस भेदभाव को ख़त्म करने में अपना सहयोग दें।

मिथक 1. पेट में लड़की होने के लक्षण : गर्भवती का ज्यादा सुंदर होना

(Garbh me ladki hone ke lakshan : garbhvati ka jyada sundar hona)


garbhvati ka sundar hona

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार अगर गर्भावस्था के दौरान गर्भवती की त्वचा पर निखार आता है और वो पहले से ज्यादा सुंदर दिखती है, तो यह उसके गर्भ में लड़की होने का लक्षण होता है। यह मिथक सच नहीं है। गर्भवती की त्वचा में निखार और उसके सुंदर होने का मुख्य कारण उसका अच्छा खानपान होता है, लेकिन इसका गर्भ में पल रहे बच्चे के लिंग से कोई संबंध नहीं है।

मिथक 2. गर्भ में लड़की होने के संकेत : गर्भवती की त्वचा नर्म होना

(Garbh me ladki hone ke lakshan : garbhvati ki skin soft hona)


garbhvati ki skin soft hona

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार अगर गर्भावस्था के दौरान गर्भवती की त्वचा बच्चों की तरह नर्म और मुलायम हो जाये, तो यह उसके पेट में लड़की होने का लक्षण होता है। यह मिथक सच नहीं है, गर्भवती की त्वचा के नर्म होने का गर्भ में मौजूद शिशु के लिंग से कोई संबंध नहीं होता है।

मिथक 3. गर्भ में लड़की होने के संकेत : ज्यादा जी घबराना और उल्टी होना

(Pet me ladki hone ke lakshan : jyada ji ghabrana aur ulti hona)


ji ghabrana aur ulti hona

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार अगर गर्भावस्था के दौरान गर्भवती को ज्यादा उल्टी (vomiting in hindi) होती है या ज्यादा जी घबराता (morning sickness in hindi) है, तो यह उसके पेट में लड़की होने का संकेत हो सकता है। यह मिथक सच नहीं है। गर्भावस्था में जी मिचलाना या उल्टी होना बेहद आम है और यह समस्या किसी गर्भवती में कम तो किसी में ज्यादा होती है। इसलिये यह गर्भवती के पेट में लड़की होने का लक्षण नहीं है।

मिथक 4. पेट में लड़की होने के लक्षण : गर्भावस्था में बाल झड़ना

(Garbh me ladki hone ke sanket : garbhavastha me bal jhadna)


garbhavastha me bal jhadna

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार गर्भावस्था के दौरान अगर गर्भवती के बाल झड़ने लगते हैं और रूखे व बेजान दिखाई देते हैं, तो यह उसके पेट में लड़की के होने का लक्षण है। यह मिथक सच नहीं, क्योंकि गर्भवती महिला के बालों का उसके गर्भ में पल रही संतान के लिंग से कोई संबंध नहीं होता है।

मिथक 5. गर्भ में लड़की होने के लक्षण : कूल्हों और जांघों पर चर्बी बढ़ना

(Garbh me ladki hone ke lakshan : hips aur tango par fat badhna)


hips aur tango par fat badhna

सच्चाई - इस मिथक को सच मानने वाले कहते हैं कि अगर गर्भावस्था के दौरान गर्भवती के कूल्हों और जांघों पर चर्बी बढ़ रही है, तो यह उसके गर्भ में लड़की होने का संकेत है। यह मिथक सच नहीं है। असल में गर्भावस्था के दौरान गर्भवती की टाँगों व कूल्हों पर चर्बी बढ़ना सामान्य है, लेकिन आपको अपने वजन पर नियंत्रण रखना चाहिए। आप सामान्य प्रसव के लिए एक्सरसाइज (exercise for normal pregnancy in hindi) कर सकती हैं।

मिथक 6. पेट में बेटी होने के संकेत : पेट सामने की तरफ बढ़ना

(Pet me beti hone ke sanket : pet aage ki taraf badhna)


pet aage ki taraf badhna

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार अगर गर्भवती महिला का पेट गोलमटोल और आगे की तरफ निकला हुआ है, तो यह गर्भ में लड़की होने का लक्षण होता है। यह मिथक सच नहीं है, गर्भवती के पेट का आकार शिशु के विकास के अनुसार बढ़ता है, इसलिए गर्भवती के पेट के आकार का गर्भ में लड़की होने से कोई संबंध नहीं है।

मिथक 7. गर्भ में बेटी होने के लक्षण : मीठा खाने की इच्छा करना

(Garbh me beti hone ke lakshan : mitha khane ki icha hona)


mitha khane ki icha hona

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार अगर गर्भवती महिला को चटपटे भोजन की जगह मीठा खाने का ज्यादा मन करे, तो यह उसके गर्भ में लड़की होने का संकेत होता है। यह मिथक सच नहीं है। असल में गर्भावस्था में पोषक तत्वों की अधिक आवश्यकता और हार्मोन संबंधी परिवर्तनों की वजह से खास प्रकार के भोजन खाने की इच्छा होना सामान्य है। इसका गर्भ में शिशु के लिंग से कोई संबंध नहीं है।

मिथक 8. पेट में बेटी होने के लक्षण : गर्भवती को भूख कम लगना

(Pet me beti hone ke lakshan : garbhvati ko kam bhookh lagna)


garbhvati ko kam bhookh lagna

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार अगर गर्भवती महिला को कम भूख लगती है या खाना खाने का मन नहीं होता है, तो यह उसके पेट में पुत्री होने का संकेत होता है। इस मिथक में कोई सच्चाई नहीं है, क्योंकि गर्भावस्था में अक्सर महिलाओं को कम भूख लगती है और इसके कई कारण हो सकते हैं। इसलिए ऐसे मिथक पर विश्वास ना करें और अगर आपको भूख ना लगने की समस्या है तो डॉक्टर की सलाह लें। आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने पर शिशु के विकास में रुकावट आ सकती है, इसलिए गर्भावस्था में खान-पान का विशेष ध्यान रखें।

मिथक 9. गर्भ में लड़की होने के लक्षण : महिला का गर्मियों में गर्भवती होना

(Garbh me ladki hone ke lakshan : mahila ka garmi me pregnant hona)


mahila ka garmi me pregnant hona

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार अगर महिला ने गर्मियों के मौसम में गर्भधारण किया है तो उसे लड़की पैदा होगी। यह मिथक सच नहीं है। गर्भ में पल रहे शिशु के लिंग से मौसम का कोई संबंध नहीं है।

मिथक 10. पेट में लड़की होने के लक्षण : गर्भ में शिशु का कम हलचल करना

(Pet me ladki hone ke lakshan : garbh me baby ka kam halchal karna)


garbh me baby ka kam halchal karna

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार लोगों का मानना है कि अगर गर्भ में शिशु कम हिलता डुलता है तो यह गर्भ में लड़की होने का संकेत होता है। यह मिथक सच नहीं है। गर्भावस्था की तीसरी तिमाही की शुरुआत के बाद अगर आपको गर्भ में बच्चे की हलचल सामान्य से कम महसूस हो या ना महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। यह गर्भ में पल रहे शिशु के बीमार होने का संकेत हो सकता है।

मिथक 11. पेट में लड़की होने के संकेत : गर्भ में शिशु की धड़कन 140 बीपीएम से ज्यादा होना

(Pet me ladki hone ke sanket : garbh me shishu ki dhadkan 140BPM se jyada hona)


garbh me shishu ki dhadkan

सच्चाई -
यह मिथक सच नहीं है। इस मिथक के अनुसार अगर आपके गर्भ में पल रहे शिशु की धड़कन 140 बीट्स प्रति मिनट से अधिक हो तो यह गर्भ में लड़की होने का लक्षण होता है। गर्भ में शिशु की धड़कन कई कारणों से कम या ज्यादा हो सकती है, ऐसे मिथक पर विश्वास ना करें। अगर शिशु के स्वास्थ्य को लेकर किसी भी तरह की आशंका नज़र आये, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

मिथक 12. गर्भ में बेटी होने के लक्षण : बायां स्तन दायें स्तन से बड़ा होना

(Garbh me beti hone ke lakshan : left breast right breast se badi hona)


left breast

सच्चाई - यह मिथक सही नहीं है। इस मिथक के अनुसार अगर गर्भवती का बायां स्तन उसके दायें स्तन से बड़ा है, तो यह उसके पेट में लड़की होने का लक्षण होता है। गर्भावस्था में स्तनों में दूध बनना शुरू होने की वजह से स्तनों का आकार बढ़ना सामान्य है। अगर आपको अपने स्तनों के आकार में अंतर नज़र आता है, तो आपको स्तन कैंसर (breast cancer in hindi) या स्तनों में गांठ (breast problems in hindi) जैसी गंभीर समस्या हो सकती है। इसलिए अगर ऐसा हो तो डॉक्टर की सलाह लें।

मिथक 13. गर्भ में बेटी होने के संकेत : गर्भवती का वज़न कम बढ़ना

(Garbh me beti hone ke sanket : garbhvati ka vajan kam badhna)


garbhvati ka vajan kam badhna

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार अगर गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला का वजन आम गर्भवती से कम बढ़ता है, तो यह उसके पेट में लड़की होने के लक्षणों में से एक होता है। मगर यह मिथक सच नहीं है, और गर्भवती का वजन कम बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे उसके भोजन में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व ना होना आदि।

  • गर्भवती होने से पहले जिस महिला का वज़न सामान्य रहा हो, गर्भावस्था के दौरान उसका वज़न औसत रूप से साढ़े ग्यारह किलोग्राम से सोलह किलोग्राम तक बढ़ना चाहिए।
  • गर्भवती होने से पहले जिस महिला का वज़न कम रहा हो, गर्भावस्था के दौरान उसका वज़न औसत रूप से साढ़े बारह किलोग्राम से साढ़े अठारह किलोग्राम तक बढ़ना चाहिए।
  • गर्भवती होने से पहले जिस महिला का वजन ज्यादा रहा हो, गर्भावस्था के दौरान उसका वजन औसत रूप से करीब सात किलोग्राम से बारह किलोग्राम तक बढ़ना चाहिए।

मिथक 14. पेट में लड़की होने के लक्षण : गर्भवती को मूड स्विंग्स होना

(Pet me ladki hone ke lakshan : garbhvati ko mood swings hona)


mood swings in pregnancy

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार अगर गर्भवती की मनोदशा में बार बार बदलाव होते हैं, तो उसके गर्भ में लड़की होती है। यह मिथक सच नहीं है, क्योंकि गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल परिवर्तन की वजह से गर्भवती की मनोदशा में बदलाव (pregnancy mood swings in hindi) होते रहते हैं। इसका गर्भ में लड़की होने से कोई संबंध नहीं है।

मिथक 15. गर्भ में लड़की होने के लक्षण : गर्भवती का दाईं करवट से सोना

(Garbh me ladki hone ke lakshan : garbhvati ka dayi karvat se sona)


garbhvati ka dayi karvat se sona

सच्चाई - इस मिथक के अनुसार गर्भावस्था के दौरान अगर गर्भवती को दाईं करवट से सोना अच्छा लगता है, तो यह उसके पेट में लड़की होने का लक्षण होता है। यह मिथक सच नहीं है और गर्भावस्था में गर्भवती के सोने के तरीके का गर्भस्थ शिशु के लिंग से संबंध का कोई सबूत नहीं है। इस मिथक पर विश्वास ना करें।

हर गर्भवती के लिए उसकी होने वाली संतान बहुत खास होती है। इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता कि आपके गर्भ में लड़का है या लडकी। जो भी हो उसका प्यार चेहरा देखते ही आपके अंदर का सारा प्यार उसके लिए उमड़ आयेगा। इसलिए इन मिथकों पर विश्वास ना करें, अगर आपके आसपास कोई इस तरह की बातों पर विश्वास करता है तो उसे सच्चाई बताएं। लड़का लड़की एक ही समान हैं, इसलिए इन लक्षणों के कोई मायने भी नहीं। अगर आप गर्भवती हैं तो बस खुश रहें, अच्छा खायें और अपनी सेहत का ख्याल रखें। आपकी होने वाली संतान के लिए यह आपका सबसे बड़ा तोहफा होगा।

इस ब्लॉग के विषय - मिथक 1. पेट में लड़की होने के लक्षण : गर्भवती का ज्यादा सुंदर होना (Garbh me ladki hone ke lakshan : garbhvati ka jyada sundar hona),मिथक 2. गर्भ में लड़की होने के संकेत : गर्भवती की त्वचा नर्म होना (Garbh me ladki hone ke lakshan : garbhvati ki skin soft hona),मिथक 3. गर्भ में लड़की होने के संकेत : ज्यादा जी घबराना और उल्टी होना (Pet me ladki hone ke lakshan : jyada ji ghabrana aur ulti hona),मिथक 4. पेट में लड़की होने के लक्षण : गर्भावस्था में बाल झड़ना (Garbh me ladki hone ke sanket : garbhavastha me bal jhadna),मिथक 5. गर्भ में लड़की होने के लक्षण : कूल्हों और जांघों में चर्बी बढ़ना (Garbh me ladki hone ke lakshan : hips aur tango par fat badhna),मिथक 6. पेट में बेटी होने के संकेत : पेट सामने की तरफ बढ़ना (Pet me beti hone ke sanket : pet aage ki taraf badhna),मिथक 7. गर्भ में बेटी होने के लक्षण : मीठा खाने की इच्छा करना (Garbh me beti hone ke lakshan : mitha khane ki icha hona),मिथक 8. पेट में बेटी होने के लक्षण : गर्भवती को भूख कम लगना (Pet me beti hone ke lakshan : garbhvati ko kam bhookh lagna),मिथक 9. गर्भ में लड़की होने के लक्षण : महिला का गर्मियों में गर्भवती होना (Garbh me ladki hone ke lakshan : mahila ka garmi me pregnant hona),मिथक 10. पेट में लड़की होने के लक्षण : गर्भ में शिशु का कम हलचल करना (Pet me ladki hone ke lakshan : garbh me baby ka kam halchal karna),मिथक 11. पेट में लड़की होने के संकेत : गर्भ में शिशु की धड़कन 140बीपीएम से ज्यादा होना (Pet me ladki hone ke sanket : garbh me shishu ki dhadkan 140BPM se jyada hona),मिथक 12. गर्भ में बेटी होने के लक्षण : बायां स्तन दायें स्तन से बड़ा होना (Garbh me beti hone ke lakshan : left breast right breast se badi hona),मिथक 13. गर्भ में बेटी होने के संकेत : गर्भवती का वज़न कम बढ़ना (Garbh me beti hone ke sanket : garbhvati ka vajan kam badhna),मिथक 14. पेट में लड़की होने के लक्षण : गर्भवती को मूड स्विंग्स होना (Pet me ladki hone ke lakshan : garbhvati ko mood swings hona),मिथक 15. गर्भ में लड़की होने के लक्षण : गर्भवती का दाईं करवट से सोना (Garbh me ladki hone ke lakshan : garbhvati ka dayi karvat se sona)
नए ब्लॉग पढ़ें