गर्भावस्था में सिरदर्द होने के कारण और कम करने के घरेलू उपाय (Pregnancy me sir dard ke karan aur gharelu upay)

गर्भावस्था में सिरदर्द होने के कारण और कम करने के घरेलू उपाय (Pregnancy me sir dard ke karan aur gharelu upay)

गर्भावस्था में सिरदर्द होने के कारण और कम करने के घरेलू उपाय (Pregnancy me sir dard hone ke karan aur kam karne ke gharelu upay)

प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं को कमर दर्द, पेट दर्द और पैर दर्द जैसी दिक्कतों में से सिरदर्द होना भी एक आम समस्या है। गर्भावस्था में सिरदर्द (pregnancy me sir dard) होना सामान्य होता है, लेकिन गर्भवती महिलाएं इससे काफी ज्यादा परेशान हो जाती हैं।

हम आपको इस ब्लॉग में गर्भावस्था में सिर दर्द से बचने के घरेलू उपाय और इससे जुड़ी सारी जानकारी दे रहे हैं।

1. क्या गर्भावस्था में सिरदर्द होना सामान्य है?

(Kya pregnancy me sir dard hona normal hai)

Pregnancy mein headache - normal hai

प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं के शरीर में हार्मोनल बदलाव की वजह से सिरदर्द होना सामान्य है। पहली तिमाही में गर्भवती महिलाओं को लगातार सिरदर्द हो सकता है, लेकिन दूसरी और तीसरी तिमाही में इससे थोड़ी राहत मिल सकती है।

गर्भावस्था में सिरदर्द (pregnancy me sir dard) सिर्फ हार्मोनल बदलाव की वजह से ही नहीं होता है, बल्कि इसके कई अलग अलग कारण हो सकते हैं, जिनकी चर्चा आगे इस ब्लॉग में की गई है।

2. गर्भावस्था में सिरदर्द क्यों होता है?

(Pregnancy me sir dard kyun hota hai)

Pregnancy mein headache - kyu hota hai

गर्भावस्था में गर्भवती महिलाओं को निम्न कारणों की वजह से सिर दर्द से परेशान होना पड़ता है-

  • गर्भावस्था में सिरदर्द का कारण: तनाव- गर्भावस्था में तनाव लेने की वजह से गर्भवती महिलाओं को सिर दर्द हो सकता है।

  • गर्भावस्था में सिरदर्द का कारण: ब्लड प्रेशर- गर्भावस्था में ब्लड प्रेशर कम और ज्यादा होने की वजह से गर्भवती महिला को सिर दर्द हो सकता है।

  • गर्भावस्था में सिरदर्द का कारण: कैफीन युक्त पदार्थ- अगर प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाएं अचानक से कैफीन युक्त पदार्थ लेना बंद कर देती हैं तो यह सिर दर्द का कारण बन सकता है।

  • गर्भावस्था में सिरदर्द का कारण: थकान- प्रेगनेंसी में ज्यादा थकान होने की वजह से सिरदर्द हो सकता है।

  • गर्भावस्था में सिरदर्द का कारण: भूख- कई बार गर्भवती महिलाएं काफी देर तक भूखे पेट रहती हैं, जिससे उन्हें सिरदर्द की शिकायत हो सकती है।

  • गर्भावस्था में सिरदर्द का कारण: पानी की कमी- प्रेगनेंसी में पर्याप्त मात्रा में पानी न पीने की वजह से भी गर्भवती महिलाओं को सिर दर्द की शिकायत हो सकती है।

  • गर्भावस्था में सिरदर्द का कारण: बंद नाक- प्रेगनेंसी में नाक बंद होने से गालों के पिछले हिस्से में दर्द महसूस होता है और इसकी वजह से सिर दर्द हो सकता है।

3. गर्भावस्था में सिरदर्द होने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए?

(Pregnancy me sir dard hone par doctor ke paas kab jana chahiye)

Pregnancy mein headache - doctor ke paas kab jaye

अगर गर्भवती महिलाओं को सिरदर्द के साथ नीचे लिखे गये लक्षण महसूस हो तो उन्हें फौरन डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए-

  • सुबह उठते ही सिरदर्द होना- अगर गर्भवती महिलाओं को सुबह नींद से जागते ही सिरदर्द हो रहा है तो उन्हें डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

  • बुखार होना- अगर गर्भवती महिलाओं को सिर दर्द के साथ गर्दन में दर्द और बुखार हो रहा है तो उन्हें डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

  • वज़न में परिवर्तन होना- अगर गर्भवती महिलाएं सिर दर्द के साथ वज़न में तेज़ी से परिवर्तन महसूस कर रही है तो उन्हें डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

  • पेट में दर्द होना- अगर गर्भवती महिलाओं को सिर दर्द के साथ पेट में भी दर्द महसूस हो रहा है तो उन्हें डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

  • दांत में दर्द होना- अगर गर्भवती महिला को सिरदर्द के साथ दांत में दर्द हो रहा है तो उन्हें डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

  • असहनीय पीड़ा होना- अगर गर्भवती महिला को गर्भावस्था में असहनीय सिरदर्द हो रहा है तो बिना किसी देर के उन्हें डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

  • सिर में चोट आना- अगर गर्भवती महिला को सिरदर्द चोट आने की वजह से हो रहा है तो उन्हें डॉक्टर से मिलना चाहिए।

4. क्या गर्भावस्था में सिरदर्द होने पर दवाई ले सकते हैं?

(Kya pregnancy me sir dard hone par koi dawa le sakte hain)

Pregnancy mein headache - dawaai

किसी भी महिला के लिए गर्भावस्था काफी नाज़ुक दौर होता है, इसलिए वे हर कदम फूंक फूंक कर रखती हैं। गर्भावस्था में सिरदर्द होने पर कुछ गर्भवती महिलाएं कई बार बाज़ार में मिलने वाली दवाईयां ले लेती हैं, जोकि हानिकारक हो सकती हैं।

गर्भावस्था में गर्भवती महिलाओं को सिर दर्द से राहत पाने के लिए कोई भी दर्द निरोधक दवाई नहीं लेनी चाहिए। इसलिए गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी की शुरूआत में ही डॉक्टर से उन सभी दवाईयों के बारे में पूछ लेना चाहिए, जो वे सिरदर्द होने पर ले सकती हैं।

5. गर्भावस्था में सिरदर्द का इलाज कैसे करें?

(Pregnancy me sir dard ka ilaj kaise kare)

Pregnancy mein headache - ilaaj

गर्भवती महिलाएं गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) का इलाज नीचे लिखे गये कुछ तरीकों से करा सकती हैं-

  • अरोमाथेरेपी (aromatherapy in hindi)- गर्भावस्था में सिरदर्द महसूस होने पर गर्भवती महिलाएं लैवेंडर और पेपरमिंट तेल की कुछ बूंदो को रूमाल या टिश्यू पेपर पर डालें और फिर इसे सूंघे।

  • होम्योपैथी (homeopathy in hindi)- गर्भावस्था में हल्के सिरदर्द का इलाज होम्योपैथी द्वारा किया जा सकता है, लेकिन इसके लिए गर्भवती महिलाएं किसी योग्य डॉक्टर का ही चुनाव करें।

  • रिफ्लेक्सोलॉजी (reflexology in hindi)- रिफ्लेक्‍सोलॉजी चिकित्‍सा विधि में बिना तेल या लोशन का इस्‍तेमाल किये अंगूठे, ऊंगली और हस्त तकनीक द्वारा पैर और हाथ पर दबाव डाला जाता है। मामूली सिरदर्द के लिए रिफ्लेक्सोलॉजी काफी अच्छी तकनीक है। इसके अलावा यह बार बार होने वाले सिर दर्द को कम करने का एक अच्छा माध्यम है।

  • ओस्टियोथैपी और कायरोप्रैक्टिक (osteopathy and chiropractic in hindi)- अगर गर्भवती महिला को सिरदर्द, गर्दन और कंधों में दर्द होने की वजह से हो रहा है तो ओस्टियोथेपी (osteopathy in hindi) एक अच्छा तरीका है। इस तकनीक में महिला के शरीर में तनाव बिंदु को कम किया जाता है।

इसके अलावा कायरोप्रैक्टिक (chiropractic in hindi) की तकनीक का उपयोग गंभीर सिरदर्द के इलाज के लिए किया जाता है। इसमें रीढ़ की हड्डियों का सहारा लिया जाता है।

  • एक्यूपंचर और एक्यूप्रेशर (acupuncture and acupressure in hindi)- एक्यूपंचर और एक्यूप्रेशर द्वारा शरीर के कुछ अंग जैसे हाथ, पैर और गले आदि को उत्तेजित किया जाता है और इससे सिरदर्द से राहत मिलती है।

  • बायोफीडबैक (biofeedback in hindi)- बायोफीडबैक तकनीक उन उपकरणों का उपयोग करती है जो गर्भवती महिला की शारीरिक गतिविधि को मापती है। इस तकनीक में मांसपेशियों में तनाव कम करने के लिए मरीज़ के माथे या गर्दन पर उपकरण लगाएं जाते है और इससे सिरदर्द से आराम मिलता है।

6. गर्भावस्था में सिरदर्द को कम करने का घरेलू उपाय क्या है?

(Pregnancy me sir dard ko kam karne ka gharelu upay kya hai)

Pregnancy mein headache - gharelu upay

गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से बचने के लिए गर्भवती महिलाएं नीचे लिखे गये घरेलू उपायों को आज़मा सकती हैं-

  • भाप लें- गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से राहत पाने के लिए गर्भवती महिलाएं एक बर्तन में पानी गर्म करें और फिर सिर को किसी कपड़े से ढक कर भाप लें।

  • मालिश कराएं- गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से राहत पाने के लिए गर्भवती महिलाएं गर्दन, कमर और सिर की मालिश कराएं।

  • नहाएं- गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से राहत पाने के लिए गर्भवती महिलाएं ठंडे पानी से नहा सकती हैं। इसके अलावा गर्म पानी में सेंधा नमक मिलाकर 15 मिनट तक नहाने से भी सिरदर्द से आराम मिल सकता है।

  • सही ब्रा का चुनाव करें- गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से राहत पाने के लिए गर्भवती को सही ब्रा का चुनाव करना चाहिए। दरअसल इस समय स्तनों का साइज़ बदलता है और इससे गर्दन और पीठ पर दबाव पड़ने की वजह से सिरदर्द हो सकता है।

गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) कम करने के लिए गर्भवती महिलाएं नीचे लिखे गए हर्बल उपायों को भी घर पर आज़मा सकती हैं-

  • हर्बल चाय पीएं- गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से राहत पाने के लिए गर्भवती महिलाएं एक चम्मच नींबू की पत्तियां, लैवेंडर और कैमोमाइल का उपयोग करके हर्बल चाय बनाएं। जब यह चाय बन जाए तो इसमें आधा चम्मच शहद और सौंफ मिलाकर पीएं।

  • अदरक की चाय पीएं- गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) को कम करने के लिए गर्भवती महिलाएं अदरक की चाय पी सकती हैं।

  • दूध और दालचीनी को मिलाकर पीएं- गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से राहत पाने के लिए गर्भवती महिलाएं एक गिलास दूध में तीन या चार चम्मच दालचीनी पाउडर को मिलाकर उबाले और फिर इसे पीएं।

  • सेब का सिरका पीएं- गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से राहत पाने के लिए गर्भवती महिलाएं एक गिलास पानी में दो चम्मच सेब का सिरका और दो चम्मच शहद मिलाकर पीएं।

7. गर्भावस्था में सिरदर्द से कैसे बचा जा सकता है?

(Pregnancy me sir dard se kaise bacha ja sakta hai)

Pregnancy mein headache - kaise bache

गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से बचने के लिए गर्भवती महिलाएं निम्न तरीकों को आज़मा सकती हैं-

  • पर्याप्त मात्रा में आराम करें- गर्भावस्था में गर्भवती महिलाओं को पर्याप्त मात्रा में आराम करना चाहिए, इससे सिरदर्द से बचा जा सकता है।

  • कैफीन युक्त पदार्थों को कम लें- अगर गर्भवती महिलाएं प्रेगनेंसी में सिरदर्द से बचना चाहती हैं तो उन्हें कैफीन युक्त पदार्थ (जैसे- चाय और कॉफी) कम लेने चाहिए।

  • पर्याप्त मात्रा में भोजन करें- अगर गर्भवती महिलाएं प्रेगनेंसी में सिरदर्द से बचना चाहती हैं तो उन्हें भर पेट भोजन करना चाहिए।

  • सुबह टहलने जाएं- प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं को तनाव मुक्त रहने के लिए सुबह टहलना चाहिए।

  • व्यायाम करें- प्रेगनेंसी की शुरूआत से ही गर्भवती महिलाओं को व्यायाम करने की आदत डालनी चाहिए। व्यायाम करने से गर्भवती का स्वास्थ्य ठीक रहता है और सिरदर्द की परेशानी से भी बचा जा सकता है।

गर्भावस्था में सिरदर्द (headache in pregnancy in hindi) से बचने के लिए गर्भवती महिलाएं इस ब्लॉग में बताए गए घरेलू उपायों को आज़मा सकती हैं। इसके अलावा अगर सिरदर्द ज्यादा तेज़ या लंबे समय तक बरकरार है तो गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर से ज़रूर संपर्क करना चाहिए।

इस ब्लॉग के विषय- 1. क्या गर्भावस्था में सिरदर्द होना सामान्य है?(Kya pregnancy me sir dard hona normal hai)2. गर्भावस्था में सिरदर्द क्यों होता है? (Pregnancy me sir dard kyun hota hai)3. गर्भावस्था में सिरदर्द होने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए? (Pregnancy me sir dard hone par doctor ke paas kab jana chahiye)4. क्या गर्भावस्था में सिरदर्द होने पर दवाई ले सकते हैं? (Kya pregnancy me sir dard hone par koi dawa le sakte hain)5. गर्भावस्था में सिरदर्द का इलाज कैसे करें? (Pregnancy me sir dard ka ilaj kaise kare)6. गर्भावस्था में सिरदर्द को कम करने का घरेलू उपाय क्या है? (Pregnancy me sir dard ko kam karne ka gharelu upay kya hai)7. गर्भावस्था में सिरदर्द से कैसे बचा जा सकता है? (Pregnancy me sir dard se kaise bacha ja sakta hai)
नए ब्लॉग पढ़ें