प्रेगनेंसी में मिट्टी खाना : कारण, प्रभाव, व अन्य जानकारियां (Pregnancy me mitti khana : karan, prabhav, aur anya jankariya)

प्रेगनेंसी में मिट्टी खाना : कारण, प्रभाव, व अन्य जानकारियां (Pregnancy me mitti khana : karan, prabhav, aur anya jankariya)

गर्भावस्था एक महिला के जीवन का सबसे ख़ास दौर होता है और उसे इस दौरान कई तरह के शारीरिक बदलावों व समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसी ही एक अजीबोगरीब समस्या गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत है, जो पाइका सिन्ड्रोम (Pica in hindi) का एक लक्षण होती है।

आंकड़ों के अनुसार करीब दो से पांच प्रतिशत महिलाएं गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत (pregnancy me mitti khana) की शिकार होती हैं। लेकिन असल में आंकड़े कम इसलिए हैं, क्योंकि ज्यादातर महिलाएं शर्म व संकोच के कारण अपनी पाइका सम्बंधी आदतों के बारे में किसी को बताती नहीं हैं।

इसके अलावा कई महिलाओं को मिट्टी खाना बेहद सामान्य लगता है, इसलिए वो अपनी इस आदत के बारे में किसी की सलाह लेना ज़रूरी नहीं समझतीं। इस ब्लॉग में हम आपको गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत व पाइका से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें बता रहे हैं।

पाइका सिंड्रोम क्या होता है? (Pica syndrome kya hota hai)

गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का मन क्यों होता है? (Pregnancy me mitti khane ka man kyun hota hai)

गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का गर्भवती के स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ता है? (Pregnancy me mitti khane se garbhvati ki sehat par kya prabhav padta hai)

गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का शिशु के स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ता है? (Pregnancy me mitti khane se baby ki sehat par kya prabhav padta hai)

गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की समस्या से छुटकारा कैसे पाएं? (Pregnancy me mitti khana kaise chode)

पाइका सिंड्रोम क्या होता है? (Pica syndrome kya hota hai)

असल में पाइका रोग का नाम लैटिन भाषा के मैगपाई (magpie) पक्षी के नाम पर आधारित है। इस पक्षी को इसकी भोजन संबंधी अजीबोगरीब आदतों की वजह से जाना जाता है, क्योंकि यह लगभग कुछ भी खा लेता है।

पाइका सिंड्रोम से पीड़ित लोगों में भी अजीब चीजें खाने की इच्छा पैदा हो जाती है, और वो ना खाने योग्य चीजें जैसे चॉक, मिट्टी, स्पंज, लकड़ी, चूना, पत्थर, बर्फ़, कोयला, राख आदि खाने लगते हैं। ज्यादातर महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाना (pregnancy me mitti khana) व कोयला, बर्फ़, राख आदि खाना पाइका रोग का लक्षण हो सकता है।

गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का मन क्यों होता है? (Pregnancy me mitti khane ka man kyun hota hai)

अभी तक वैज्ञानिक केवल इतना ही पता लगा पाये हैं कि पाइका सिंड्रोम की वजह से महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का मन होता है, लेकिन इसका असली कारण अभी तक कोई नहीं जान पाया है। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने की वजह से महिला को गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत (pregnancy me mitti khana) पड़ जाती है, वहीं कुछ विशेषज्ञ इसे महज़ एक मानसिक समस्या के रूप में देखते हैं।

असल में ये दोनों ही तथ्य अब तक वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित नहीं हो पाए हैं, इसलिए हम आपको गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत के कुछ संभावित कारण बता रहे हैं -

  • गर्भावस्था में मूड स्विंग्स व हार्मोनल बदलाव - हालाँकि यह प्रमाणित नहीं है, लेकिन कुछ विशेषज्ञों के अनुसार प्रेगनेंसी में हार्मोनल बदलाव व मूड स्विंग्स गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत की वज़ह हो सकते हैं।
  • गर्भावस्था में एनीमिया या आयरन की कमी - कुछ विशेषज्ञ बताते हैं कि गर्भवती के शरीर में आयरन की कमी और एनीमिया (खून की कमी) होने की वजह से उसे गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का मन होता है। इन विशेषज्ञों के अनुसार गर्भवती का शरीर मिट्टी के ज़रिए शरीर में आयरन की कमी पूरी करने की कोशिश करता है।
  • गर्भावस्था में तनाव - जैसा कि हम आपको बता चुके हैं कि, कई डॉक्टर्स पाइका सिंड्रोम व गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की समस्या को मानसिक रोग मानते हैं, ऐसे में वे तनाव को गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने (pregnancy me mitti khana) की एक बड़ी वज़ह मानते हैं।
  • गर्भावस्था में उल्टी व जी घबराना (मॉर्निंग सिकनैस) - कई महिलाओं के अनुसार गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने से उन्हें उल्टी व जी घबराने की समस्या से राहत मिलती है। इसलिए कई महिलाएं मॉर्निंग सिकनैस से बचने के लिये गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत (pregnancy me mitti khana) अपना लेती हैं। हालाँकि इसका कोई प्रमाण नहीं है कि गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने से उल्टी व जी घबराने की समस्या कम होती है।

गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का गर्भवती के स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ता है? (Pregnancy me mitti khane se garbhvati ki sehat par kya prabhav padta hai)

  • गर्भवती के पेट में संक्रमण होना - प्रेगनेंसी में मिट्टी खाने (pregnancy me mitti khana) से गर्भवती के पेट में संक्रमण हो सकता है, क्योंकि मिट्टी में कई तरह के हानिकारक कीटाणु होते हैं जो महिला के पेट में जाकर बढ़ना शुरू कर देते हैं और गर्भवती को बीमार कर सकते हैं।
  • गर्भवती के पेट में कीड़े होना - मिट्टी में कई तरह के परजीवी कीड़े (दूसरे जीव के अंदर घुसकर रहने वाले कीड़े) रहते हैं, जो गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने (pregnancy me mitti khana) से गर्भवती महिला के पेट में चले जाते हैं। इससे गर्भवती के पेट में कीड़े हो सकते हैं, जो उसके भोजन का पोषण छीन लेते हैं।
  • गर्भवती के शरीर में विषैले पदार्थ जमा होना - मिट्टी में कई तरह के हानिकारक पदार्थ जैसे पारा (मर्करी) आदि मौजूद हो सकते हैं, ऐसे में गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने से गर्भवती के शरीर में विषैले पदार्थ इकट्ठे हो सकते हैं। ये गर्भवती के स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होते हैं और गंभीर मामलों में जानलेवा भी साबित हो सकते हैं।
  • गर्भवती का पाचन तंत्र खराब होना - हमारा पाचन तंत्र मिट्टी को पचाने के लिए नहीं बना है, ऐसे में जब गर्भवती मिट्टी खाती है तो उसके पाचन तंत्र पर ज़ोर पड़ता है। गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने (pregnancy me mitti khana) से महिला का पाचन तंत्र (ख़ासतौर पर आँतें) खराब हो सकता है।
  • गर्भवती के दाँत ख़राब होना - मिट्टी में छोटे छोटे पत्थर व धातु के कण होते हैं, जिन्हें चबाने से गर्भवती के दाँतों की ऊपरी परत घिस सकती है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने से गर्भवती के दांत खराब व संवेदनशील हो सकते हैं, जिससे हल्का ठंडा या गर्म भोजन खाने पर भी दाँतों में टीस चल सकती है।
  • गर्भवती को पर्याप्त पोषण ना मिलना - गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने (pregnancy me mitti khana) से गर्भवती के पेट में पौष्टिक भोजन के लिए जगह नहीं बचती, जिससे गर्भवती पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक आहार नहीं खा पाती है। इसके अलावा मिट्टी खाने से गर्भवती की आंतें कमज़ोर हो जाती हैं और भोजन के पोषक तत्वों को सही तरह सोख नहीं पातीं। इसलिए प्रेगनेंसी में मिट्टी खाने से गर्भवती कुपोषण का शिकार हो सकती है।
  • गर्भवती के शरीर में घाव व आंतरिक रक्तस्राव होना - अगर मिट्टी के ज़रिए महिला के शरीर में काँच के बारीक टुकड़े व धातु आदि चले जाएं, तो महिला के नाज़ुक अंदरूनी अंग कट सकते हैं और पेट में बहुत ज्यादा खून बह सकता है। यह स्थिति गर्भवती के लिए जानलेवा साबित हो सकती है, इसलिए गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने से बचें।

गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का शिशु के स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ता है? (Pregnancy me mitti khane se baby ki sehat par kya prabhav padta hai)

  • शिशु का वज़न ना बढ़ना - गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने वाली गर्भवती के शिशु का वज़न धीरे बढ़ता है और गंभीर मामलों में बच्चे का वज़न बढ़ना रुक भी सकता है। इसकी मुख्य वजह शिशु को पर्याप्त पोषण ना मिल पाना है।
  • शिशु के शारीरिक व मानसिक विकास में बाधा होना - गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने (pregnancy me mitti khana) से शिशु को अपने विकास के लिए सही से पोषण नहीं मिल पाता है और इससे उसके शारीरिक व मानसिक विकास में रुकावट आ सकती है। अगर माँ ज्यादा मिट्टी खाती है और पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्वों से भरपूर आहार नहीं खाती, तो अविकसित शिशु पैदा हो सकता है।
  • बीमार शिशु पैदा होना - गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने वाली गर्भवती महिलाओं के गर्भ में पल रहे शिशु विभिन्न रोगों के साथ पैदा हो सकते हैं। इसकी वज़ह मिट्टी में मौजूद हानिकारक कीटाणु या पोषक तत्वों की कमी भी हो सकती है।
  • कुपोषित शिशु पैदा होना - मिट्टी खाने की वजह से माँ के शरीर में खून व पोषक तत्वों की कमी हो जाती है, इससे बच्चे को पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिल पाता और वो कुपोषित पैदा हो सकता है।
  • शिशु का समय से पहले पैदा होना (premature baby in hindi) - गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने (pregnancy me mitti khana) से आपका बच्चा समय से पहले जन्म ले सकता है और उसकी जान जाने का ख़तरा भी हो सकता है।
  • मृत शिशु पैदा होना (stillbirth in hindi) - अगर गर्भवती महिला गर्भावस्था के दौरान बहुत ज्यादा मिट्टी खाती है और बीमार हो जाती है तो उसका बच्चा पेट में मर सकता है। इसलिए उसे गर्भावस्था में मिट्टी खाने की आदत (pregnancy me mitti khana) से बचना चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की समस्या से छुटकारा कैसे पाएं? (Pregnancy me mitti khana kaise chode)

  • इस बारे में डॉक्टर की सलाह लें - अगर आपको गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का मन होता है या आप मिट्टी खाती हैं, तो इस बारे में डॉक्टर से सलाह लें। उन्हें बताएं कि कब आपका मन मिट्टी खाने के लिए मचलने लगता है। ऐसे में डॉक्टर आपके खून की जांच करके आपकी मिट्टी खाने की आदत (pregnancy me mitti khana) की संभावित वज़ह ढूँढ कर आपको उचित इलाज सुझा सकते हैं।
  • शरीर में आयरन व अन्य पोषक तत्वों की कमी ना होने दें - गर्भवती महिला के शरीर में आयरन व अन्य पोषक तत्वों की कमी को प्रेगनेंसी में मिट्टी खाने का एक कारण माना जाता है। इसलिए अपने भोजन में पौष्टिक चीजें जैसे पालक, गाज़र, दूध आदि शामिल करके आप गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत पर काबू पा सकती हैं।
  • मिट्टी का विकल्प तलाशें - अगर आप गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदी हैं, तो मिट्टी की जगह कोई और चीज जैसे च्विंगम या सौंफ - चीनी, माउथ फ्रेशनर आदि खाना शुरू करें। इससे आपको मिट्टी खाने की आदत छोड़ने में मदद मिलेगी।
  • अपने दोस्तों व परिजनों की मदद लें - अगर आप गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत से परेशान हैं, लेकिन इसे छोड़ नहीं पा रही हैं, तो अपने परिवार वालों व दोस्तों की मदद लेने में ना हिचकिचाएं। उन्हें बताएं कि कब और कैसे आपको मिट्टी खाने का मन करता है, और उन्हें कहें कि वो आपको उस वक़्त मिट्टी ना खाने दें।
  • अपना ध्यान भटकाएं - जब भी आपको मिट्टी खाने (pregnancy me mitti khana) का मन करे, तब अपना ध्यान भटकाकर किसी और काम में लगाने की कोशिश करें। इसके लिए आप अपना मनपसन्द फल खा सकती हैं, टीवी देख सकती हैं या गाने भी सुन सकती हैं। शुरुआत में आपको इसमें परेशानी आएगी, लेकिन धीरे धीरे आपकी मिट्टी खाने की आदत छूट जाएगी।

गर्भवती महिला को गर्भावस्था में कई बार अजीब चीजें खाने का मन करता है। अगर आपको भी गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की आदत (pregnancy me mitti khana) है, तो घबराएं नहीं, ब्लॉग में दी गयी बातों का ध्यान रखें और इस बारे में डॉक्टर की सलाह लें। यह समस्या बेहद सामान्य है। ज़रूरी सावधानियां और उचित जीवनशैली अपनाकर आप मिट्टी खाने की आदत से छुटकारा पा सकती हैं और एक स्वस्थ - खुशहाल ज़िंदगी जी सकती हैं।

इस ब्लॉग के विषय - पाइका सिंड्रोम क्या होता है? (Pica syndrome kya hota hai), गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का मन क्यों होता है? (Pregnancy me mitti khane ka man kyun hota hai), गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का गर्भवती के स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ता है? (Pregnancy me mitti khane se garbhvati ki sehat par kya prabhav padta hai), गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने का शिशु के स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ता है? (Pregnancy me mitti khane se baby ki sehat par kya prabhav padta hai), गर्भावस्था के दौरान मिट्टी खाने की समस्या से छुटकारा कैसे पाएं? (Pregnancy me mitti khana kaise chode)
नए ब्लॉग पढ़ें
Healofy Proud Daughter