गर्भवती होने के लिए क्या नहीं खाना चाहिए? (pregnant hone ke liye kya nahi khana chahiye)

गर्भवती होने के लिए क्या नहीं खाना चाहिए? (pregnant hone ke liye kya nahi khana chahiye)

गर्भवती होने के लिए (pregnant hone ke liye) स्वस्थ भोजन करना जितना जरूरी है, उतना ही जरूरी है यह जानना कि गर्भधारण करने से पहले किन वस्तुओं को नहीं खाना चाहिए। एेसी कई चीजें हैं, जो आपको गर्भधारण की तैयारी करते समय नहीं खानी या पीनी चाहिए, क्योंकि इनसे आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ सकता है।

हालांकि इनमें से कुछ चीजें सामान्यतः स्वास्थ्यवर्धक होती हैं, लेकिन प्रेगनेंट होने के लिए इनसे परहेज करने में ही भलाई है। इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे, गर्भवती होने के लिए (pregnant hone ke liye) किन चीजों को नहीं खाना (pregnant hone ke liye na khaye) और पीना चाहिए।

1. प्रेगनेंट होने के लिए क्या नहीं खाना चाहिए?

(pregnant hone ke liye kya nahi khana chahiye)

  • गर्भवती होने के लिए न खाएं लो फैट वाले डेयरी उत्पाद (pregnant hone ke liye na khaye low fat dairy products)

गर्भधारण के लिए (pregnant hone ke liye) लो फैट डेयरी उत्पादों को न खाने की सलाह दी जाती है। एेसा इसीलिए क्योंकि इनमें एंड्रोजन (androgen hormone in hindi) हार्मोन पाया जाता है, जो एक प्रकार का पुरुष हार्मोन होता है। दरअसल, दूध में से फैट निकालने की प्रक्रिया के दौरान स्वाद व रंग बनाए रखने के लिए इसमें मिलाए जाने वाले पदार्थों से दूध में एंड्रोजन हार्मोन आ जाता है।

यह महिलाओं के शरीर में जाकर उनके मासिक धर्म को अनियमित बना देता है। इस वजह से उनके ओवुलेशन पर असर पड़ता है और गर्भधारण में परेशानी हो सकती है। लो फैट वाले दूध के अलावा उससे बनी वस्तुओं में दही, पनीर और आइसक्रीम आदि शामिल हैं।

  • प्रेगनेंट होने के लिए न खाएं मर्करी या पारा युक्त मछलियां (pregnant hone ke liye na khaye high mercury fish)

गर्भवती होने से पहले मर्करी युक्त मछलियां खाने से महिला के शरीर में पारा जमा होने लगता है, जिसकी वजह से उसे गर्भधारण करने में परेशानी हो सकती है। हालांकि इसके बावजूद अगर वह गर्भधारण कर लेती है, तो इसका असर गर्भ में भ्रूण के तंत्रिका तंत्र और किडनी के विकास पर पड़ सकता है।

यह तब होता है, जब महिलाओं को गर्भधारण करने का पता भी नहीं चलता। आमतौर पर मछलियों में सभी समुद्री मछलियां मर्करी युक्त होती हैं, जिनमें मुख्य रूप से शार्क, किंग मैकरेल और टूना शामिल हैं।

  • प्रेगनेंट होने के लिए न खाएं कच्चा पपीता (pregnant hone ke liye na khaye raw papaya)

कच्चे या अधपके पपीते में लैटेक्स (latex in hindi) नामक एक पदार्थ पाया जाता है, जो गर्भाशय संकुचन में सहायक होता है। एेसे में गर्भवती होने से पहले कच्चे पपीते को किसी भी रूप में खाने से मना किया जाता है (pregnant hone ke liye na khaye)।

हालांकि पूरी तरह से पके हुए पपीते को खाने से पाचन संबंधी समस्याएं दूर होती हैं। इसीलिए प्रेगनेंसी से पहले पूरी तरह से पका हुआ पपीता खाना सुरक्षित होता है।

  • गर्भवती होने के लिए न खाएं ट्रांस फैट वाले भोजन (pregnant hone ke liye na khaye trans fat foods)

गर्भवती होने से पहले (pregnant hone ke liye) अत्यधिक मात्रा में ट्रांस फैट युक्त भोजन खाने से महिला की फर्टिलिटी पर इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है। गर्भधारण से पहले रोजाना ट्रांस फैट युक्त खाना खाने से उसे दिल की बीमारी हो सकती है, जिससे उसके शरीर में खून का प्रवाह धीमा हो जाता है।

इससे जरूरी पोषक तत्व शरीर के प्रजनन अंगों तक पहुंच नहीं पाते, जिसका असर महिला के प्रजनन तंत्र पर पड़ सकता है और उसे गर्भधारण करने में समस्या हो सकती है।

वहीं दूसरी ओर पुरुषों को भी ट्रांस फैट युक्त खाना नहीं खाना चाहिए, इससे स्वस्थ शुक्राणुओं की संख्या पर बुरा असर पड़ सकता है। ट्रांस फैट युक्त भोजन में मुख्य रूप से चिप्स, बर्गर, पिज्जा, पॉपकॉर्न एवं अन्य तली-भुनी चीजें शामिल हैं।

  • प्रेगनेंट होने के लिए न खाएं पैकेज्ड फूड (pregnant hone ke liye na khaye packaged food)

पिछले कुछ वर्षों से पैकेज्ड फूड खाने को ज्यादा प्राथमिकता दी जा रही है, लेकिन गर्भधारण की कोशिश करने वाली महिलाओं को पैकेज्ड फूड न खाने की सलाह दी जाती है।

बाजार में उपलब्ध विभिन्न प्रकार के पैकेज्ड फूड को कई दिनों तक ताजा बनाए रखने के लिए उनमें कुछ रासायनिक पदार्थों का इस्तेमाल किया जाता है, जिनको खाने से महिला के प्रजनन तंत्र इसका दुष्प्रभाव पर पड़ सकता है।

2. गर्भवती होने के लिए कैफीन युक्त पदार्थ न पीएं

(pregnant hone ke liye caffeine wale padarth na piye)

Pregnant hone ke liye caffeine na piye

चाय और कॉफी में कैफीन नामक एक तत्व होता है, जिसके अत्यधिक मात्रा में सेवन से महिलाओं में फर्टिलिटी संबंधी समस्याएं पैदा हो सकती हैं। इसीलिए अगर आप गर्भधारण करने की तैयारी कर रही है तो कैफीन युक्त पदार्थों का सेवन सीमित मात्रा में ही करें।

गर्भवती होने से पहले रोजाना एक कप चाय या कॉफी पीने को आदर्श माना जाता है, जिसमें कैफीन की मात्रा 200 मिलीग्राम से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। शोध बताते हैं, जो महिलाएं एक दिन में 200 मिलीग्राम से ज्यादा कैफीन युक्त पदार्थों का सेवन करती हैं, उनमें गर्भधारण करने की संभावना आधी होती है।

3. प्रेगनेंट होने के लिए कैन और प्लास्टिक की बोतलों में पानी या कोल्ड ड्रिंक न पीएं

(pregnant hone ke liye canned and plastic bottled drinks na piye)

Pregnant hone ke liye plastic bottle drink na piye

कुछ बोतल निर्माता कंपनियों द्वारा प्लास्टिक की बोतलों के निर्माण के लिए बीपीए यानी बिसफेनोल ए (bisphenol A in hindi) नामक रसायनिक पदार्थ का इस्तेमाल किया जाता है। यह अक्सर कैन और प्लास्टिक की बोतलों में मिलने वाले पानी या ड्रिंक में घुल जाता है।

इसीलिए गर्भवती होने के लिए (pregnant hone ke liye) प्लास्टिक की बोतलों में पानी या किसी भी प्रकार के ड्रिंक पीने की आदत को स्वस्थ नहीं माना जाता है। इससे महिलाओं के प्रजनन तंत्र (reproductive system in hindi) पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है और उन्हें गर्भधारण में परेशानी हो सकती है।

4. गर्भवती होने के लिए सोडा न पीएं

(pregnant hone ke liye soda na piye)

Pregnant hone ke liye soda na piye

कुछ अध्ययनों से यह पता चला है कि सोडा में कई हानिकारक तत्व होते हैं। अत्यधिक मात्रा में सोडा पीने से महिला के शरीर में सूजन बढ़ती है और इससे उसकी पाचन प्रक्रिया पर भी बुरा असर पड़ता है। इसके साथ ही सोडा में मौजूद कृत्रिम मिठास (अनावश्यक कैलोरीज) से महिला का वजन बढ़ने लगता है।

इसके अलावा गर्भवती होने से पहले अगर महिलाएं ज्यादा मात्रा में सोडा लेती हैं, तो इससे उनकी फर्टिलिटी पर बुरा असर पड़ सकता है। एक शोध में यह पाया गया है कि जिन महिलाओं को ब्लड शुगर की समस्या होती है, उनके लिए सोडा हानिकारक होता है। शुगर से पीड़ित महिलाएं ज्यादा सोडा पीने से इंफर्टिलिटी की शिकार हो सकती है।

5. प्रेगनेंट होने के लिए शराब न पीएं

(pregnant hone ke liye alcohol na piye)

Pregnant hone ke liye sharaab na piye

प्रेगनेंसी की तैयारी करने वाली महिलाओं को शराब से दूर रहने की सलाह दी जाती है। दरअसल, शराब की वजह से उन्हें अनियमित मासिक धर्म और ओवुलेशन संबंधी समस्या का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा कई बार ज्यादा शराब पीने से महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजेन (estrogen in hindi) एवं प्रोजेस्टेरोन (progesterone in hindi) हार्मोन का स्तर असामान्य हो जाता है। इसकी वजह से उन्हें गर्भधारण करने में परेशानी हो सकती है।

6. गर्भवती होने के लिए धूम्रपान न करें

(pregnant hone ke liye cigarette na piye)

Pregnant hone ke liye smoking na kare

एक हालिया अध्ययन के अनुसार यह स्पष्ट किया गया है कि लंबे समय तक धूम्रपान करने वाली महिलाओं को गर्भधारण करने में समस्या हो सकती है। इसी अध्ययन में यह भी कहा गया है कि रोजाना धूम्रपान करने वाली महिलाओं के अंडों में आनुवांशिक बीमारियों का संचार हो सकता है और ये निषेचित होने से पहले नष्ट हो सकते हैं।

विशेषज्ञ कहते हैं कि सामान्य तरीके से गर्भधारण करने वाली महिलाओँ की तुलना में धूम्रपान करने वाली महिलाओं को आईवीएफ या इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (in vitro fertilization in hindi) जैसी प्रक्रिया भी दो बार करवानी पड़ सकती है।

7. प्रेगनेंट होने के लिए खाने में अजीनोमोटो युक्त चीजें न खाएं

(pregnant hone ke liye khane me ajinomoto yukt chije na khaye)

Pregnant hone ke liye ajinomoto na khaaye

आमतौर पर अजीनोमोटो में एमएसजी यानी मोनोसोडियम ग्लूटामेट (MSG / monosodium glutamate in hindi) नामक पदार्थ होता है। इसे बाजार में मिलने वाले विभिन्न प्रकार के चाइनीज व्यंजनों में इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मौजूद तत्वों से खाने का स्वाद अच्छा बनता है और एक बार खाने से दोबारा खाने का मन होता है।

अजीनोमोटो से बना खाना खाने से प्रेगनेंसी की तैयारी करने वाली महिलाओं के शरीर में सोडियम का स्तर अचानक बढ़ सकता है, जिससे उनके शरीर में पानी की कमी हो सकती है। इससे उन्हें एडिमा यानी सूजन और प्रजनन तंत्र से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।

8. क्या गर्भवती होने के लिए ज्यादा तिल नहीं खाने चाहिए?

(kya pregnant hone ke liye jyada til nahi khane chahiye)

Pregnant hone ke liye til na khaaye

तिल की तासीर गर्म होती है, इसीलिए गर्भधारण से पहले इसे खाने की चीजों में ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। हालांकि आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, और विटामिन बी, सी व ई से भरपूर तिल का सीमित मात्रा में सेवन किया जाना सुरक्षित माना जाता है, लेकिन इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह ले लें।

9. क्या गर्भवती होने के लिए हल्दी नहीं खानी चाहिए?

(kya pregnant hone ke liye haldi nahi khani chahiye)

Pregnant hone ke liye haldi na khaaye

हल्दी को कई प्रकार से लाभकारी माना जाता है, क्योंकि यह सूजन और कैंसर प्रतिरोधी होती है। लेकिन अगर आप प्रेगनेंसी की तैयारी कर रही हैं, तो खाने की चीजों में अत्यधिक मात्रा में हल्दी का इस्तेमाल करना स्वास्थ्य के विपरीत हो सकता है।

विशेषज्ञ कहते हैं, गर्भधारण से पहले खाने में अत्यधिक हल्दी का उपयोग करने पर यह महिला के शरीर में गर्भनिरोधक की तरह काम करती है और इससे फर्टिलिटी पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है। रोजाना खाने की चीजों में हल्दी का इस्तेमाल किया जाना सामान्य होता है। लेकिन हल्दी के इस्तेमाल की मात्रा कितनी होनी चाहिए, इसकी सलाह डॉक्टर से ले लें।

10. प्रेगनेंट होने के लिए भोजन संबंधी सावधानियां क्या हैं?

(pregnant hone ke liye bhojan sambandhi savdhaniya kya hai)

Pregnant hone ke liye bhojan sambandhi savdhaaniya

गर्भवती होने के लिए भोजन न खाने संबंधी कुछ अहम बातों का ख्याल रखना जरूरी होता है, जो नीचे बताई जा रही हैं-

  • बाहर का न खाएं: प्रेगनेंट होने के लिए महिलाओं को बाहर का खाना न खाने की सलाह दी जाती है, क्योंकि खुला और स्वच्छ न होने की वजह से इसमें पलने वाले कीटाणुओं से उन्हें स्वास्थ संबंधी अनेक समस्याएं हो सकती हैं। इसका उनकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ सकता है।

  • तला-भुना न खाएं: विशेषज्ञों के अनुसार, गर्भधारण करने से पहले महिलाओं को तली-भुनी चीजें नहीं खानी चाहिए क्योंकि इससे उनके स्वास्थ्य पर विपरित प्रभाव पड़ सकता है।

  • मसालेदार खाना न खाएं: अगर आप गर्भधारण का सोच रहीं है तो मसालेदार खाना न खाएं। ज्यादा मसालेदार खाने का बुरा असर पाचन क्रिया पर पड़ सकता है और गर्भधारण में समस्या हो सकती है।

  • शरीर को गर्म करने वाली चीजें न खाएं: विशेषज्ञ कहते हैं, प्रेगनेंसी की तैयारी करने वाली महिलाओं को शरीर गर्म करने वाली चीजें नहीं खानी चाहिए। कई बार इनसे गर्भ ठहर तो जाता है लेकिन इन वस्तुओं की तासीर गर्म होने की वजह से गर्भपात हो सकता है और उन्हें इसका पता भी नहीं चल पाता।

  • कृत्रिम मिठास वाली चीजें न खाएं: प्रेगनेंसी की तैयारी करने वाली महिलाओं को कृत्रिम मिठास वाली चीजें भी नहीं खानी चाहिए। ज्यादा मीठा खाने से ब्लड में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है, जिसकी वजह से फर्टिलिटी संबंधी समस्या हो सकती है।

खाने और पीने की कई चीजों में गुण तो होता है, लेकिन इन्हें अत्यधिक मात्रा में लेने से आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच सकता है। अगर आप गर्भधारण की तैयारी कर रहीं हैं, तो सबसे पहले कौन सी चीजें नहीं खानी चाहिए, यह जान लें।

इस ब्लॉग में प्रजनन तंत्र को नुकसान पहुंचाने और गर्भधारण में कठिनाई पैदा करने वाली खान पान की वस्तुओं के बारे में विस्तार से बताया गया है। हालांकि गर्भवती होने के लिए क्या नहीं खाना चाहिए, (pregnant hone ke liye na khaye), इसकी उचित जानकारी के लिए डॉक्टर की सलाह लें।

इस ब्लॉग के विषय- 1. प्रेगनेंट होने के लिए क्या नहीं खाना चाहिए? (pregnant hone ke liye kya nahi khana chahiye)2. गर्भवती होने के लिए कैफीन युक्त पदार्थ न पीएं (pregnant hone ke liye caffeine wale padarth na piye)3. प्रेगनेंट होने के लिए कैन और प्लास्टिक की बोतलों में पानी या कोल्ड ड्रिंक न पीएं (pregnant hone ke liye canned and plastic bottled drinks na piye)4. गर्भवती होने के लिए सोडा न पीएं (pregnant hone ke liye soda na piye)5. प्रेगनेंट होने के लिए शराब न पीएं (pregnant hone ke liye alcohol na piye)6. गर्भवती होने के लिए धूम्रपान न करें (pregnant hone ke liye cigarette na piye)7. प्रेगनेंट होने के लिए खाने में अजीनोमोटो युक्त चीजें न खाएं (pregnant hone ke liye khane me ajinomoto yukt chije na khaye)8. क्या गर्भवती होने के लिए ज्यादा तिल नहीं खाना चाहिए? (kya pregnant hone ke liye jyada til nahi khana chahiye)9. क्या गर्भवती होने के लिए हल्दी नहीं खानी चाहिए? (kya pregnant hone ke liye haldi nahi khani chahiye)10. प्रेगनेंट होने के लिए भोजन संबंधी सावधानियां क्या हैं? (pregnant hone ke liye bhojan sambandhi savdhaniya kya hai)
नए ब्लॉग पढ़ें