6 months old baby

Question: मेरा 6 month बेबी बॉय ... 4 दिन से सुसु नही कर रहा।।। अगर करता भी है तो बहुत कम न के बराबर...what should u do??

4 Answers
Question
Answer: Hello Dear Apne baby Ko semi solid diet start ki hai? Kyunki ab apka baby six months ka h ap usko semi solid ke saath water fruit juice b de sakte ho. Usually baby 8-10 times pee karte hai apke baby ne kafi Kam Kiya hai. Ap usko boiled cool water dijeye n breast feed b kariye. Coconut water b acha h. Phir b pee nhi kare to immediately doctor se consult kijeye. Dhyan rakhe
  • avatar
    Mu Ta234 days ago

    Pee krta to he but not like before... Bahut kam मात्रा me

  • avatar
    Priyanka Agarwal234 days ago

    Haan wohi kam hai iska MATLAB usko liquid ki zarurat hai ap coconut water, barley water dijeye

Answer: Dear sabse pehle apka baby 6 month ka ho chuka hai to aap baby ko pani dena shuru kar sakte ho. Dusra aap ek baar doctor ko dikhaye kyunki is age par babies kyunki sirf breastmilk peete hai to toilet kai jate hai agar baby bilkul nahi ya na ke barabar kar raha hai to apko doctor se consult karna chahiye. Hope it helps.
Answer: Baby ko doctor ko dikhao.....Dr dekhake bolenge Kya hua h...Mere baby ko b same problem Tha......
  • avatar
    Mu Ta234 days ago

    Fir docotr ne kya bola?

Answer: Consult paediatrian immediately..
Similar Questions with Answers
Question: मेरे बेबी बॉय ने 6 दिन से पॉटी नहीं की है। इसकी वजह से वह ठीक से सो भी नहीं पा रहा। वह बहुत ही बदबूदार गैस छोड़ रहा है, लेकिन दिन में कम से कम 10 बार पेशाब कर रहा है। क्या ये नार्मल है? कृपया उपाय बताएं।
Answer: अपने बच्चे को कम उम्र से ही दवाइयों पर निर्भर करना सही नहीं है। आम तौर पर पाचन तंत्र सही से काम नहीं करने पर बच्चों में गैस की समस्या हो सकती है। इसे ठीक करने के लिए घरेलु उपया अपना सकती है। बेबी को गैस की समस्या कुछ चुनिंदा कारणों से हो सकती है। आपका बेबी सही तरह से दूध नहीं पीता है। स्तनपान करते समय या बोतल से दूध पीते समय बेबी के पेट में हवा चल जाना। बच्चे के पाचन तंत्र का विकसित नहीं होना। जन्म के उपरांत से ही बच्चे का पाचन तंत्र लगातार विकसित होते रहता है। अगर इसका विकास सही तरह से न हो, तो गैस की समस्या हो सकती है। बच्चे को किसी विशेष खाने से एलर्जी होना क्योंकि आप जो खाती हैं उसका असर बच्चे पर भी पड़ता है। दूध में ग्लूकोस ज्यादा होना। आपके बेबी के लिए फॉरमिल्क की तुलना में हिंडमिल्क ज्यादा पौष्टिक होता है। फॉरमिल्क में तरल पदार्थ, ग्लूकोस, शुगर अधिक मात्रा में पायी जाती है। अगर बच्चा सिर्फ 10 मिनट या उससे कम समय के लुए स्तनपान करता है, तो उसे हिंडमिल्क नहीं मिलता क्योंकि आम तौर पर हिंडमिल्क 10 मिनट के बाद ही निकलना शुरू होती है। ऐसी स्थिति में बच्चे में ग्लूकोस की मात्रा बढ़ सकती है और उसे गैस की समस्या हो सकती है। अपने बेबी को एक बार में ही ज़्यादा दूध पिलाने से भी यह हो सकता है, क्युकिं बच्चे इसे पचा नहीं पाता। बच्चे को दूध पिलाने के बाद डकार दिलाना बेहद ज़रूरी होता है, इससे उसे दूध को पचाने में मदद मिलती है। इसके अतिरिक्त आप उसे पेट के बल भी थोड़ा खेलने दे सकती हैं। जिससे उसके पेट की मांसपेशिया मजबूत होगी और उसका पाचन तंत्र सही तरह से विकसित होगा। बच्चे के पेट की हल्के हाथों से मालिश करने से भी आपको मदद मिलेगी। आप उसके दोनों पैरों को हाथों से पकड़कर धीरे-धीरे साइकिल चलाने की तरह एक्सरसाइज भी कर सकती हैं, इससे उसे भोजन को पचाने में मदद मिलेगी।
»Read All Answers
Question: मेरे बेबी बॉय ने 6 दिन से पॉटी नहीं की है। इसकी वजह से वह ठीक से सो भी नहीं पा रहा। वह बहुत ही बदबूदार गैस छोड़ रहा है, लेकिन दिन में कम से कम 10 बार पेशाब कर रहा है। क्या ये नार्मल है? कृपया उपाय बताएं।
Answer: अपने बच्चे को कम उम्र से ही दवाइयों पर निर्भर करना सही नहीं है। आम तौर पर पाचन तंत्र सही से काम नहीं करने पर बच्चों में गैस की समस्या हो सकती है। इसे ठीक करने के लिए घरेलु उपया अपना सकती है। बेबी को गैस की समस्या कुछ चुनिंदा कारणों से हो सकती है। आपका बेबी सही तरह से दूध नहीं पीता है। स्तनपान करते समय या बोतल से दूध पीते समय बेबी के पेट में हवा चल जाना। बच्चे के पाचन तंत्र का विकसित नहीं होना। जन्म के उपरांत से ही बच्चे का पाचन तंत्र लगातार विकसित होते रहता है। अगर इसका विकास सही तरह से न हो, तो गैस की समस्या हो सकती है। बच्चे को किसी विशेष खाने से एलर्जी होना क्योंकि आप जो खाती हैं उसका असर बच्चे पर भी पड़ता है। दूध में ग्लूकोस ज्यादा होना। आपके बेबी के लिए फॉरमिल्क की तुलना में हिंडमिल्क ज्यादा पौष्टिक होता है। फॉरमिल्क में तरल पदार्थ, ग्लूकोस, शुगर अधिक मात्रा में पायी जाती है। अगर बच्चा सिर्फ 10 मिनट या उससे कम समय के लुए स्तनपान करता है, तो उसे हिंडमिल्क नहीं मिलता क्योंकि आम तौर पर हिंडमिल्क 10 मिनट के बाद ही निकलना शुरू होती है। ऐसी स्थिति में बच्चे में ग्लूकोस की मात्रा बढ़ सकती है और उसे गैस की समस्या हो सकती है। अपने बेबी को एक बार में ही ज़्यादा दूध पिलाने से भी यह हो सकता है, क्युकिं बच्चे इसे पचा नहीं पाता। बच्चे को दूध पिलाने के बाद डकार दिलाना बेहद ज़रूरी होता है, इससे उसे दूध को पचाने में मदद मिलती है। इसके अतिरिक्त आप उसे पेट के बल भी थोड़ा खेलने दे सकती हैं। जिससे उसके पेट की मांसपेशिया मजबूत होगी और उसका पाचन तंत्र सही तरह से विकसित होगा। बच्चे के पेट की हल्के हाथों से मालिश करने से भी आपको मदद मिलेगी। आप उसके दोनों पैरों को हाथों से पकड़कर धीरे-धीरे साइकिल चलाने की तरह एक्सरसाइज भी कर सकती हैं, इससे उसे भोजन को पचाने में मदद मिलेगी।
»Read All Answers
Question: मेरे बेबी बॉय ने 6 दिन से पॉटी नहीं की है। इसकी वजह से वह ठीक से सो भी नहीं पा रहा। वह बहुत ही बदबूदार गैस छोड़ रहा है, लेकिन दिन में कम से कम 10 बार पेशाब कर रहा है। क्या ये नार्मल है? कृपया उपाय बताएं।
Answer: अपने बच्चे को कम उम्र से ही दवाइयों पर निर्भर करना सही नहीं है। आम तौर पर पाचन तंत्र सही से काम नहीं करने पर बच्चों में गैस की समस्या हो सकती है। इसे ठीक करने के लिए घरेलु उपया अपना सकती है। बेबी को गैस की समस्या कुछ चुनिंदा कारणों से हो सकती है। आपका बेबी सही तरह से दूध नहीं पीता है। स्तनपान करते समय या बोतल से दूध पीते समय बेबी के पेट में हवा चल जाना। बच्चे के पाचन तंत्र का विकसित नहीं होना। जन्म के उपरांत से ही बच्चे का पाचन तंत्र लगातार विकसित होते रहता है। अगर इसका विकास सही तरह से न हो, तो गैस की समस्या हो सकती है। बच्चे को किसी विशेष खाने से एलर्जी होना क्योंकि आप जो खाती हैं उसका असर बच्चे पर भी पड़ता है। दूध में ग्लूकोस ज्यादा होना। आपके बेबी के लिए फॉरमिल्क की तुलना में हिंडमिल्क ज्यादा पौष्टिक होता है। फॉरमिल्क में तरल पदार्थ, ग्लूकोस, शुगर अधिक मात्रा में पायी जाती है। अगर बच्चा सिर्फ 10 मिनट या उससे कम समय के लुए स्तनपान करता है, तो उसे हिंडमिल्क नहीं मिलता क्योंकि आम तौर पर हिंडमिल्क 10 मिनट के बाद ही निकलना शुरू होती है। ऐसी स्थिति में बच्चे में ग्लूकोस की मात्रा बढ़ सकती है और उसे गैस की समस्या हो सकती है। अपने बेबी को एक बार में ही ज़्यादा दूध पिलाने से भी यह हो सकता है, क्युकिं बच्चे इसे पचा नहीं पाता। बच्चे को दूध पिलाने के बाद डकार दिलाना बेहद ज़रूरी होता है, इससे उसे दूध को पचाने में मदद मिलती है। इसके अतिरिक्त आप उसे पेट के बल भी थोड़ा खेलने दे सकती हैं। जिससे उसके पेट की मांसपेशिया मजबूत होगी और उसका पाचन तंत्र सही तरह से विकसित होगा। बच्चे के पेट की हल्के हाथों से मालिश करने से भी आपको मदद मिलेगी। आप उसके दोनों पैरों को हाथों से पकड़कर धीरे-धीरे साइकिल चलाने की तरह एक्सरसाइज भी कर सकती हैं, इससे उसे भोजन को पचाने में मदद मिलेगी।
»Read All Answers
Question: मेरा बच्चा हर 2 घंटे में 60 ml दूध पीता है। वह दिन भर में कम से कम 10 बार सूसू करता है, यह नार्मल है न?
Answer: रोज़ाना 600-900 ml दूध बच्चे के लिए पर्याप्त होता है। आपका बच्चा बिलकुल ही स्वस्थ है। बच्चे जितनी ज्यादा यूरिन पास करते हैं, उतना हीं सही रहता है। इससे पता चलता है की उनका स्वास्थ अच्छा है। आप घबराने की कोई जरूरत नहीं हैं।
»Read All Answers